1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Election 2022: भाजपा की दिल्ली में आज हाईलेवल बैठक, इन प्रत्याशियों के नामों पर लगेगी मुहर

UP Election 2022: भाजपा की दिल्ली में आज हाईलेवल बैठक, इन प्रत्याशियों के नामों पर लगेगी मुहर

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर भारतीय जनता पार्टी  (Bharatiya Janata Party) ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। पहले चरण और दूसरे चरण के प्रत्याशियों के नामों पर आज मंथन किया जाएगा। पश्चिमी यूपी के 11 जिलों की 58 सीटों पर पहले फेज और 9 जिलों की 55 सीटों पर दूसरे फेज में मतदान होना है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर भारतीय जनता पार्टी  (Bharatiya Janata Party) ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। पहले चरण और दूसरे चरण के प्रत्याशियों के नामों पर आज मंथन किया जाएगा। पश्चिमी यूपी के 11 जिलों की 58 सीटों पर पहले फेज और 9 जिलों की 55 सीटों पर दूसरे फेज में मतदान होना है। इस विधानसभा सीट पर प्रत्याशियों के नामों पर आज भाजपा (BJP) की केंद्रीय चुनाव समिति (central election committee) मंथन करेगी।

पढ़ें :- UP Election 2022: किसानों को 15 दिनों के अंदर मिलेगा गन्ने का भुगतान, अखिलेश-जयंत ने प्रेसवार्ता के दौरान किया वादा

सूत्रों की माने तो इस बैठक में ही प्रत्यशियों के नामों पर अंतिम मुहर लग जाएगी। पहले चरण के प्रत्याशियों के नामों की घोषणा 14 जनवरी के बाद कभी भी की जा सकती है। दरअसल, पश्चिम यूपी में भाजपा (BJP) उन प्रत्याशियों पर दांव लगायेगी जो मजबूत स्थिति में दिखेंगे। दरअसल, किसान आंदोलन के चलते भाजपा पश्चिम यूपी में खुद को पहले की मुकाबले कमजोर समझ रही है।

दिल्ली स्थित पार्टी कार्यालय में होगी बैठक
प्रत्याशियों के ऐलान से पहले दिल्ली भाजपा कार्यालय में आज बैठक होगी। इसमें सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव मौर्य, यूपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह समेत संगठन के कई पदाधिकारी वहां पहुंचे हैं। इस बैठक में पार्टी के चुनाव प्रभारी धर्मेन्द्र प्रधान महामंत्री संगठन सुनील बंसल और प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह भी मौजूद रहेंगे। बताया जा रहा है कि इस बैठक में मौजूदा विधायकों को लेकर भी चर्चा होगी। साथ ही खराब छवि वाले विधायकों के टिकट काटे जाने का निर्णय भी लिया जा सकता है। सूत्रों की माने तो सोमवार को लखनऊ में हुई बैठक पर भी इसको लेकर निर्णय लिया गया था।

चुनाव प्रचार को लेकर बनेगी रणनीति
सूत्रों की माने तो दिल्ली में होने वाली इस बैठक में चुनाव प्रचार को लेकर भी रणनीति बनेगी। इसके साथ ही स्टार प्रचारकों को किसको किसको शामिल किया जाए, इस भी विचार किया जाएगा। दरअसल, कोरोना के चलते 15 जनवरी तक रैलियों पर रोक लगा दी गई है। ऐसे में डिजिटल तरीके से पार्टियों को रैलियां करनी है, जो सभी के लिए बड़ी चुनौती बनी हुई है।

पढ़ें :- UP Election 2022: जानिए भाजपा की छठी लिस्ट में क्यों कटे 17 विधायकों के टिकट?
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...