1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Election 2022: तीसरे चरण में पूर्व मुख्यमंत्री से लेकर मौजूदा मंत्री की प्रतिष्ठा दांव पर, हर जगह है कांटे का मुकाबला

UP Election 2022: तीसरे चरण में पूर्व मुख्यमंत्री से लेकर मौजूदा मंत्री की प्रतिष्ठा दांव पर, हर जगह है कांटे का मुकाबला

यूपी चुनाव के तीसरे चरण के लिए कल वोटिंग होगी। तीसरे चरण में 16 जिलों की 59 सीटों के लिए मतदान होगा। तीसरा चरण बेहद ही महत्वपूर्ण है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

UP Election 2022: यूपी चुनाव के तीसरे चरण के लिए 20 फरवरी को वोटिंग होगी। तीसरे चरण में 16 जिलों की 59 सीटों के लिए मतदान होगा। तीसरा चरण बेहद ही महत्वपूर्ण है। दरअसल, तीसरे चरण में भाजपा के दिग्गज नेता और केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल, योगी सरकार के मंत्री सतीश महान, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, शिवपाल यादव समेत कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। आज हम आपको सिल​सिलेवार तरीके से बताएंगे कि कौन दिग्गज कहां से चुनावी मैदान में है और उसका मुकाबाल सीधे किससे होता दिख रहा है।

पढ़ें :- Sanjay Raut बोले- फिलहाल महाराष्ट्र में नहीं आने वाला है कोई राजनीतिक भूकंप

1. सबसे पहले हम बात करेंगे अखिलेश यादव की, जो करहल से विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं। भाजपा ने इनके खिलाफ एसपी सिंह बघेल को चुनावी मैदान में उतारा है। एसपी सिंह बघेल मौजूदा समय में केंद्रीय मंत्री हैं। ऐसे में यहां का मुकाबला दिलचस्प होने वाला है। हालांकि, कांग्रेस ने यहां से अपना प्रत्याशी नहीं उतारा है।

2. अब हम बात करेंगे शिवपाल यादव के बारे में, जो इटावा की जसवंतनगर सीट से चुनावी मैदान में हैं। जसवंतनगर शिवपाल यादव का गढ़ माना जाता है। पिछले 5 बार से यहां से शिवपाल यादव विधायक हैं। परिवार में एकजुटता होने के बाद शिवपाल यादव को समाजवादी पार्टी ने यहां से प्रत्याशी बनाया है। शिवपाल यादव के सामने यहां पर भाजपा ने विनय शाक्य को चुनावी मैदान में उतारा है, जबकि बसपा ने बिजेंद्र कुमार को चुनावी मैदान में उतारा है। वहीं, कांग्रेस ने अखिलेश की तरह शिवपाल यादव के सामने कोई प्रत्याशी नहीं उतारा है।

3. इसके बाद हम बात करेंगे पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता सलमान खुर्शीद की पत्नी लुइस खुर्शीद के बारे में। लुइस खुर्शीद फर्रुखाबाद सदर सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं। भाजपा ने इन​के खिलाफ मौजूदा विधायक सुनील द्विवेदी को उतारा है।

4. अब हम बात करेंगे योगी सरकार के मंत्री सतीश महाना के बारे में, जो कानपुर की महाराजपुर विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में हैं। सतीश महाना पिछले 7 बार से विधायक हैं और इस बार आठवीं बार चुनाव मैदान में हैं। उनका मुकाबला इस बार समाजवादी पार्टी के फतेह बहादुर सिंह गिल के साथ है।

पढ़ें :- बीजेपी वाले सूची जारी करें जो ‘अग्निवीर योजना ’ में अपने बच्चों को भेज रहें हैं : अखिलेश यादव

5. इसके बाद हम बात करने जा रहे हैं योगी सरकार की राज्यमंत्री नीलिमा ​कटियार के बारे में जो, कानपुर की कल्याणपुर सीट से चुनावी मैदान में है। नीलिमा कटियार इस समय योगी सरकार में राज्यमंत्री हैं। इनका मुकाबला समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक सतीश निगम के साथ है। लेकिन इस सीट पर कांग्रेस ने खुशी दुबे की बहन नेहा तिवारी को मैदान में उतारा है। इसके कारण यहां पर लड़ाई बेहद ही दिलचस्प हो गयी है।

6. इसी तरह बसपा छोड़कर बीजपी में आए रामवीर उपाध्या के सामने भी बड़ी चुनौती है। रामवीर उपाध्याय बीजेपी के टिकट पर हाथरस की सादाबाद विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में हैं। इनका मुकाबला एसपी-आरएलडी गठबंधन के प्रत्याशी प्रदीप चौधरी से है।

7. पूर्व आईपीएस असीम अरुण की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी हुई है। भाजपा ने असीम अरूण को कनौज सदर से प्रत्याशी बनाया है। इनके खिलाफ समाजवादी पार्टी के अनिल दोहरे को उम्मीदवार बनाया है।

 

पढ़ें :- अब MLC चुनाव में बड़ा झटका : संकट में उद्धव सरकार, शिवसेना के 13 विधायक गुजरात पहुंचे
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...