1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Election 2022: जानिए स्वामी प्रसाद मौर्य का अखिलेश 2011 से क्यों कर रहे थे इंताजर, चुनावी जनसभा में खुद ही बताया?

UP Election 2022: जानिए स्वामी प्रसाद मौर्य का अखिलेश 2011 से क्यों कर रहे थे इंताजर, चुनावी जनसभा में खुद ही बताया?

यूपी चुनाव से ठीक पहले समाजवादी पार्टी में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य  (Swami Prasad Maurya) का सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) 2011 से इंताजर कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अगर वो बसपा छोड़ने के बाद वो सपा में आ गए होते थे जनता को पांच साल के बुरे दिन नहीं देखने पड़ते। साथ ही कहा कि जब वो विधानसभा में विपक्ष में बैठते थे तो दमदारी से सवाल करते थे और हम जवाब देते थे।

By शिव मौर्या 
Updated Date

UP Election 2022: यूपी चुनाव से ठीक पहले समाजवादी पार्टी में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य  (Swami Prasad Maurya) का सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) 2011 से इंताजर कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अगर वो बसपा छोड़ने के बाद वो सपा में आ गए होते थे जनता को पांच साल के बुरे दिन नहीं देखने पड़ते। साथ ही कहा कि जब वो विधानसभा में विपक्ष में बैठते थे तो दमदारी से सवाल करते थे और हम जवाब देते थे।

पढ़ें :- Kanhaiyalal Murder Case: राहुल गांधी बोले-हैवानियत से आतंक फैलाने वालों को तुरंत सख़्त सज़ा मिले

पढ़ें :- Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में सियासी उठापटक पर बोले अखिलेश यादव-ये सत्ता की भूख का विषकाल

पहले हम आमने-सामने बैठते थे अब हम एक साथ बैठेंगे और आजादी के बाद जिनको हक और सम्मान नहीं मिला उनके लिए काम करेंगे। अखिलेश यादव ने ये बातें फाजिलनगर में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहीं। इस दौरान उन्होंने यूपी की भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा।

साथ ही कहा कि प्रदेश में सरकार बनने पर 22 लाख युवाओं को आईटी सेक्टर में रोजगार देंगे। अखिलेश यादव ने कहा कि, पिछड़ा दलित एक साथ आकर इतना समर्थन करे, यह मैंने पहले कभी नहीं देखा। हो सकता है करहल की जीत सबसे बड़ी जीत हो। मैं चाहता हूं सबसे बड़ी जीत उसकी हो जिसके लिए मैं वोट मांगने आया हूं।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...