1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Election 2022 : बीजेपी विधायक माधुरी वर्मा साइकिल पर हुईं सवार, अखिलेश ने दिलाई सदस्यता

UP Election 2022 : बीजेपी विधायक माधुरी वर्मा साइकिल पर हुईं सवार, अखिलेश ने दिलाई सदस्यता

UP Election 2022 : यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) से पहले पक्ष और विपक्ष में शहमात का खेल जारी है। बता दें कि इस चुनाव के लिए जल्द ही आचार संहिता की घोषणा होने वाली है। इस दौरान प्रदेश में सियासी उठापटक भी जारी है। सोमवार को बहराइच से भाजपा विधायक माधुरी वर्मा (BJP MLA Madhuri Verma) सहित पूर्व विधान परिषद सदस्य कांति सिंह (Former Legislative Council member Kanti Singh) सहित बसपा के कई बड़े नेता सपा में शामिल हो गए। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सभी को पार्टी की सदस्यता दिलाई और उनका स्वागत किया।

By संतोष सिंह 
Updated Date

UP Election 2022 : यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) से पहले पक्ष और विपक्ष में शहमात का खेल जारी है। बता दें कि इस चुनाव के लिए जल्द ही आचार संहिता की घोषणा होने वाली है। इस दौरान प्रदेश में सियासी उठापटक भी जारी है। सोमवार को बहराइच से भाजपा विधायक माधुरी वर्मा (BJP MLA Madhuri Verma) सहित पूर्व विधान परिषद सदस्य कांति सिंह (Former Legislative Council member Kanti Singh) सहित बसपा के कई बड़े नेता सपा में शामिल हो गए। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सभी को पार्टी की सदस्यता दिलाई और उनका स्वागत किया।

पढ़ें :- UP Election 2022: वोट मांगने के लिए घर-घर जाएंगे भाजपा के दिग्गज नेता

इस अवसर पर पत्रकारों को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि जिस दिन से नए साल पर 300 यूनिट बिजली फ्री देने का फैसला सपा ने लिया है। साथ ही किसानों की सिंचाई मुफ्त होगी, सबसे ज्यादा तकलीफ भारतीय जनता पार्टी को हो रही है। मिर्जापुर में फ्रांस के राष्ट्रपति ने जिस सोलर प्लांट का उद्घाटन किया वह योजना सपा सरकार की ही थी। चाहे ललितपुर, महोबा, झांसी या मैनपुरी रहा हो सपा सरकार में सोलर पावर प्लांट लगाए गए हैं।

पढ़ें :- कालाधन लाने गए हैं आरपीएन सिंह, बीजेपी में शामिल होने पर कांग्रेस ने वीडियो शेयर कर कसा तंज

अखिलेश यादव ने कहा कि मुझे खुशी है इस बात की रोजा थर्मल प्लांट तैयार हो गया जो नेताजी ने बनाया था। अनपरा डी का प्लांट भी समाजवादी पार्टी सरकार की वजह से लगा, एटा में सुपरक्रिटिकल प्लांट लगाया। यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश का चुनाव देखते हुए भाजपा ने मजबूरी में तीनों कृषि कानून वापस किए हैं। जिन कानूनों से किसान की खेती बर्बाद हो जाती, उनके हाथ से उनकी जमीन निकल जाती।

उन्होंने कहा​ कि मैं जानता हूं जिस दिन गाजीपुर से हमारा रथ चलकर लखनऊ पहुंचा था, उस दिन भारतीय जनता पार्टी के होश उड़ गए और अगले दिन ही उन्होंने किसानों के खिलाफ तीनों काले कानूनों को वापस लेने का काम किया।अखिलेश यादव ने कहा कि हमारे किसानों की आय भाजपा के लोग दुगनी नहीं कर पाए थे, जो वादा किया। लेकिन अब एक भी भाषण में भाजपा के लोग यह बात नहीं कह रहे हैं।

यादव ने कहा कि हमारे बाबा मुख्यमंत्री यह नहीं जानते होंगे कि कितनी किलोमीटर ट्रांसमिशन लाइन उत्तर प्रदेश में बिछी होगी।इस सरकार ने कोल जनरेशन पर कोई ध्यान नहीं दिया। उन्होंने बताया कि नेताजी के समय में एक पॉलिसी आई थी जिसके तहत बड़े पैमाने पर इन्वेस्टमेंट हुआ था, कोल जनरेशन के प्लांट लगे थे, इस सरकार की नाकामी की वजह से कॉल जनरेशन आगे नहीं बढ़ पाया।

यादव ने कहा कि योगी के मुंह से कभी ट्रांसमिशन लाइन सुना आपने। 5 साल में कभी उन्होंने ट्रांसमिशन लाइन अपने मुंह से बोला हो तो बता दो? एडीआर रिपोर्ट आई है जिसमें सबसे ज्यादा दागी विधायक भारतीय जनता पार्टी में है। भाजपा ने देश में पहली बार इतिहास बनाने का काम किया है, जिस मुख्यमंत्री पर तमाम धाराएं लगी हो उसको मुख्यमंत्री बना दिया।

पढ़ें :- आरपीएन सिंह के पार्टी छोड़ने पर कांग्रेस ने कसा तंज, बोली-'कायर नहीं लड़ सकते इस लड़ाई को '
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...