1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Election 2022: अखिलेश यादव का समर्थन करने आज दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ आयेंगी ममता

UP Election 2022: अखिलेश यादव का समर्थन करने आज दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ आयेंगी ममता

भाजपा को उत्तरप्रदेश की सत्ता से उखाड़ फेंकने के लिए समाजवादी पार्टी से जो कुछ भी बन पा रहा है वो उस काम को करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। यूपी विधानसभा चुनाव के पहले चरण की शुरुआत 10 फरवरी से हो रही है। इस दिन पश्चिमी उत्तरप्रदेश के 11 जिलों में वोटिंग होनी है।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

लखनऊ। भाजपा को उत्तरप्रदेश की सत्ता से उखाड़ फेंकने के लिए समाजवादी पार्टी से जो कुछ भी बन पा रहा है वो उस काम को करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। यूपी विधानसभा चुनाव(UP Election 2022) के पहले चरण की शुरुआत 10 फरवरी से हो रही है। इस दिन पश्चिमी उत्तरप्रदेश के 11 जिलों में वोटिंग होनी है। इसी क्रम में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के कहने पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और वर्तमान समय की विपक्ष की प्रमुख चेहरों में से एक ममता बनर्जी सपा के समर्थन में रैली करने आज उत्तरप्रदेश के दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ पहुंच रही हैं। बताया जा रहा है कि आज शाम 5 बजे ममता बनर्जी लखनऊ एयरपोर्ट पहुचेंगी।

पढ़ें :- Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में सियासी उठापटक पर बोले अखिलेश यादव-ये सत्ता की भूख का विषकाल

ममता अखिलेश को वोट देने के लिए करेंगी अपील

ममता बनर्जी(Mamta Banarji) की पार्टी तृणमूल कांग्रेस का सपा के साथ गठबंधन तय था। लेकिन टीएमसी ने गठबंधन से कोई भी प्रत्याशी ना उतारने का फैसला किया। मिर्जापूर से कांग्रेस छोड़ टीएमसी में शामिल हुए ललितेशपति त्रिपाठी इस गठबंधन से चुनाव लड़ने वाले थे लेकिन टीएमसी ने कोई उम्मीदवार नहीं उतारा। आज जब ममता सपा का समर्थन करने लखनऊ आ रही हैं तो वह जनता से सपा को वोट देकर के भाजपा को सत्ता से दखल करने की अपील करेंगी। सूत्रों के मुताबिक ममता एयरपोर्ट से सीधे हजरतगंज स्थित लेवाना स्वीट्स जायेंगी। हजरतगंज से होने के बाद ममता समाजवादी पार्टी कर्यालय पहुचेंगी। आज शाम ही ममता की मुलाकात सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से होगी। कल दोनों नेता सपा कर्यालय में संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस करेंगे। इसके बाद ममता अखिलेश यादव की मौजूदगी में कल वर्चुअल रैली को भी संबोधित करेंगी।

मुस्लिम वोटों को ममता के बहाने साधने की फिराक में सपा

बिहार में हुए पिछले विधानसभा के चुनाव में मुस्लिमों के हिमायती नेता ओवैसी की पार्टी ने राष्ट्रीय जनता दल का जो नुकसान किया वो सबके सामने है। ओवैसी की पार्टी से जीत दर्ज करने वाले विधायक राजद की राह के सबसे बड़े रोड़े बन कर सामने आ गये। मुस्लिम वोटों में सेधमारी कर ओवैसी की पार्टी ने तेजस्वी यादव के मुख्यमंत्री बनने के सपनों को तोड़ दिया। ​बिहार में किये गये इस प्रदर्शन के बाद लोग ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम(AIMIM) को भाजपा की बी टीम बताने लगे। लेकिन बंगाल के मुस्लिम मतदाताओं ने बंगाल चुनाव में इस परिभाषा को बदल के रख दिया। बंगाल में भी चुनावी ताल ठोकनें वाले ओवैसी के हांथ एक भी सीट नहीं लगी।

पढ़ें :- By-elections 2022: आजमगढ़ और रामपुर में 23 जून को डाले जाएंगे वोट, थम गया चुनाव प्रचार

ममता बन कर उभरी हैं मुस्लिमों के लिए सबसे विश्वसनीय चेहरा

मुस्लिम मतदाता उत्तरप्रदेश में चुनाव लड़ रही दो और प्रमुख पार्टियां बसपा और कांग्रेस की तरफ ना रुख कर पाये इसके लिए अखिलेश यादव ने ममता बनर्जी पर दांव खेला है। भाजपा के सामने मजबूत स्थिती में सपा ही नजर आ रही है ऐसे में अगर मुस्लिम मतदाता सपा को जमकर के वोट करते हैं तो पार्टी को इसका बड़ा फायदा मिलेगा। बंगाल का उदाहरण सबके सामने रखने के लिए ही अखिलेश(Akhilesh Yadav) ने ममता बनर्जी को आमंत्रित किया है। ममता से उत्तरप्रदेश के चुनाव में चुनाव प्रचार कराने की उनकी यही रणनीति साफ तौर पर नजर आ रही है। बता दें कि ममता बंगाल चुनाव से मुस्लिमों की सबसे बड़ी नेता बन कर के उभरी हैं।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...