1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Election 2022: दलबदलू नेताओं को मायावती ने बताया ‘बरसाती मेंढक’, कहा-BSP के लोग ऐसे लोगों को रखें दूर

UP Election 2022: दलबदलू नेताओं को मायावती ने बताया ‘बरसाती मेंढक’, कहा-BSP के लोग ऐसे लोगों को रखें दूर

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के करीब आते ही नेताओं का पार्टी बदलने का सिलसिला शुरू हो गया है। शनिवार को बसपा (BSP) के 6 विधायकों ने सपा की सदस्यता ली। इसको लेकर मायावती ने बड़ा हमला बोला है। उन्होंने दलबदलु नेताओं को 'बरसाती मेंढक' बताया है। साथ ही कहा कि ऐसे लोगों से बसपा (BSP) को दूर रहना होगा।

By शिव मौर्या 
Updated Date

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के करीब आते ही नेताओं का पार्टी बदलने का सिलसिला शुरू हो गया है। शनिवार को बसपा (BSP) के 6 विधायकों ने सपा की सदस्यता ली। इसको लेकर मायावती ने बड़ा हमला बोला है। उन्होंने दलबदलु नेताओं को ‘बरसाती मेंढक’ बताया है। साथ ही कहा कि ऐसे लोगों से बसपा (BSP) को दूर रहना होगा।

पढ़ें :- BJP धार्मिक भावनाओं को भड़का कर, देश को कमजोर कर रही है : मायावती

बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने रविवार को ट्वीट किया है। इस ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि, ‘यूपी विधानसभा आमचुनाव नजदीक आने पर अब फिर से आए दिन दलबदलू लोगों के इस पार्टी से उस पार्टी में आने-जाने का दौर शुरू हो गया है किन्तु इससे किसी भी पार्टी का जनाधार बढ़ने वाला नहीं है बल्कि इससे उन्हें हानि ही होगी।

पढ़ें :- मायावती के ट्वीट से राजनीतिक दलों में मची खलबली, क्या आजम खान के लिए बसपा है बेहतर विकल्प?

अतः बीएसपी (BSP) के लोग ऐसे बरसाती मेंढकों को पार्टी से दूर ही रखें’। इसके साथ ही ही उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि, ‘केवल दलबदलू ही नहीं बल्कि बरसाती मेंढकों की तरह अनेकों ऐसी पार्टियों के नाम भी लोगों को सुनने को मिल रहे हैं जिनके नाम अब तक देखने-सुनने को नहीं मिले थे। सत्ता लोलुपता के ऐसे खेल को जनता खूब समझती है व इससे उनपर कोई प्रभाव नहीं पड़ने वाला है। परिवर्तन अटल है’।

सरदार पटेल की जयंती पर उन्हें श्रद्धा-सुमन अर्पित किया
मायावती ने आज़ादी के बाद भारत के पहले उप प्रधानमंत्री व गृह मंत्री रहे सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर उन्हें श्रद्धा-सुमन अर्पित व उनके अनुयाइयों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। उनके बताए रास्तों पर चलकर देश में सद्भावना व एकता को मज़बूत करने की भी सख़्त ज़रूरत।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...