1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Election 2022 : योगी के अब एक और मंत्री ने की खुली बगावत, बीजेपी को याद दिलाया इतिहास

UP Election 2022 : योगी के अब एक और मंत्री ने की खुली बगावत, बीजेपी को याद दिलाया इतिहास

UP Election 2022 : यूपी की योगी सरकार (Yogi Government) में दर्जा प्राप्त मंत्री ठाकुर रघुराज सिंह (Raghuraj Singh) ने बीजेपी (BJP) के खिलाफ खुलकर बगावत कर दी है। ठाकुर रघुराज ने कहा कि अब बीजेपी (BJP) पहली जैसी नहीं रही है। रघुराज ने बताया कि मैं बीजेपी (BJP) से उस समय से जुड़ा हूं, जब कोई पार्टी का झंडा उठाने वाला नहीं था। उन्होंने बताया कि साल 1984 में मैंने आरएसएस (RSS)  रघुराज सिंह (RSS) के प्रशिक्षण शिविर में OTC की। इसके बाद लगातार 18 साल संगठन मंत्री का दायित्व संभाला।

By संतोष सिंह 
Updated Date

UP Election 2022 : यूपी की योगी सरकार (Yogi Government) में दर्जा प्राप्त मंत्री ठाकुर रघुराज सिंह (Raghuraj Singh) ने बीजेपी (BJP) के खिलाफ खुलकर बगावत कर दी है। ठाकुर रघुराज ने कहा कि अब बीजेपी (BJP) पहली जैसी नहीं रही है।

पढ़ें :- 'One Nation One Businessman' एजेंडे पर कार्य कर रही है मोदी सरकार : अखिलेश यादव

रघुराज ने बताया कि मैं बीजेपी (BJP) से उस समय से जुड़ा हूं, जब कोई पार्टी का झंडा उठाने वाला नहीं था। उन्होंने बताया कि साल 1984 में मैंने आरएसएस (RSS)  रघुराज सिंह (RSS) के प्रशिक्षण शिविर में OTC की। इसके बाद लगातार 18 साल संगठन मंत्री का दायित्व संभाला। जिला से लेकर प्रदेश स्तर के कई दायित्वों का ईमानदारी से निर्वहन किया। मुझसे एमएलसी और कैबिनेट मंत्री बनाने की बात कही गई थी और बरौली सीट से मैं सर्वे में भी टॉप रहा, लेकिन पार्टी दलबदलुओं को ज्यादा सम्मान दे रही है, जिस व्यक्ति से मैं 20 साल से लड़ रहा हूं, उस व्यक्ति को मेरी टिकट काटकर दे दी।

 

रघुराज सिंह (Raghuraj Singh) ने सवाल खड़े किए कि बीएसपी (BSP) से आए और वर्तमान में एमएलसी ठाकुर जयवीर सिंह (MLC Thakur Jaiveer Singh) का अभी 3 साल कार्यकाल बचा हुआ है। अगर वो इतने अच्छे नेता हैं, तो उन्होंने बीएसपी क्यों छोड़ी? वह कहते हैं कि इस बेईमान व्यक्ति को टिकट देकर इन्होंने मेरा अपमान किया है। पार्टी नेतृत्व के फैसले की वजह से जयवीर सिंह मेरी पकी-पकाई फसल काटने जा रहे हैं। बीजेपी (BJP) नेता ने कहा कि जिस पार्टी का अलीगढ़ में 15 साल से किसी ने झंडा नहीं उठाया और अब सरकार आई तो दलबदलुओं को टिकट दे दी। उन्होंने आगे कहा कि योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को समझना चाहिए था कि मैं उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर साथ खड़ा रहा. साल 2006 में अलीगढ़ में दंगे हुए तो मैंने उनके साथ गिरफ्तारी दी।

 

पढ़ें :- Gyanvapi Survey : जज पर भड़के मुनव्वर राना,कहा कि मैं देश का पीएम होता तो उन्हें अरेस्ट करवा देता...

रघुराज सिंह (Raghuraj Singh) ने आगे कहा कि बरौली सीट पर जयवीर सिंह के लिए प्रचार नहीं करूंगा। मैंने पार्टी नेतृत्व से साफ बोला दिया है कि अलीगढ़ से बाहर मुझे जिम्मेदारी दी जाए। मैं दलबदलुओं के लिए झंडा नहीं उठा सकता, नहीं तो मुझसे जनता नाराज हो जाएगी। वह कहते हैं कि कल्याण सिंह के बाद अलीगढ़ से सबसे सीनियर नेता की पार्टी ने टिकट ना देकर घोर उपेक्षा की है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...