1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Election 2022: राजा भैया ने की मुलायम सिंह यादव से मुलाकात, गठबंधन को लेकर लगाए जाने लगे कयास

UP Election 2022: राजा भैया ने की मुलायम सिंह यादव से मुलाकात, गठबंधन को लेकर लगाए जाने लगे कयास

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सियासी समीकरण बनने और​ बिगड़ने शुरू हो गए हैं। दिग्गज नेताओं का एक दूसरे के साथ मिलना भी शुरू हो गया है। समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) छोटे दलों से गठबंधन करने में जुटी हुई है। आरएलडी (RLD) और आदमी पार्टी (AAP) से सपा का गठबंधन होना तय माना जा रहा है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सियासी समीकरण बनने और​ बिगड़ने शुरू हो गए हैं। दिग्गज नेताओं का एक दूसरे के साथ मिलना भी शुरू हो गया है। समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) छोटे दलों से गठबंधन करने में जुटी हुई है। आरएलडी (RLD) और आदमी पार्टी (AAP) से सपा का गठबंधन होना तय माना जा रहा है।

पढ़ें :- किसान मेहनत करते हैं लेकिन बुलडोजर वाली सरकार के बुल पूरी फसल को नष्ट कर दें: अखिलेश यादव

इस बीच यूपी (UP) के कद्दावर नेता राज भैया ने सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद प्रदेश की सियासत में नए समीकरण बनने की बात कही जा रही है। हालांकि, राजा भैया (Raja Bhaiya) ने इस मुलाकात को महज शिष्टाचार मुलाकात बताया है। राजा भैया ने कहा कि, नेजा जी के जन्मदिन पर मैं हमेशा मिलकर शुभकामनाएं देता हूं लेकिन इस बार बाहर था।

उन्होंने कहा कि इस मुलाकात को चुनाव से जोड़कर न देखें। साथ ही इसका कोई अलग से निहितार्थ न निकाला जाए। उधर, मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि बीती रात अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से उनकी फोन पर बातचीत हुई थी। इसके बाद आज उन्होंने मुलायम सिंह यादव से लखनऊ में मुलाकात की। दरअसल, राजा भैया (Raja Bhaiya) की पार्टी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक ने बीते दिनों ऐलान किया था कि उनकी पार्टी 100 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

वहीं, अब मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) और राजा भैया (Raja Bhaiya) की मुलाकात ने प्रदेश में कई कयासों को जन्म दे दिया है। कुछ लोगों का कहना है कि सपा और राजा भैया (Raja Bhaiya) की पार्टी का भी चुनाव से पहले गठबंधन हो जाएगा। दरअसल, अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) प्रदेश की छोटी पार्टियों से गठबंधन कर इस बार विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं। उन्होंने बड़ी पार्टियों से दूरी बना ली है।

पढ़ें :- आपने अपने खून पसीने से पीतल नगरी बनाई, इस सरकार ने अंधेर नगरी बना दी है : प्रियंका गांधी
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...