1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. चुनाव आते ही  विपक्षी दल  हुए मौसमी राम भक्त : डा. दिनेश शर्मा 

चुनाव आते ही  विपक्षी दल  हुए मौसमी राम भक्त : डा. दिनेश शर्मा 

यूपी के उपमुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा ने कहा कि  चुनाव आते ही  विपक्षी दलों के लोग मौसमी राम भक्त बन गए हैं। आज वे घंटा बजाने व हनुमान चालीसा के पाठ का अभ्यास कर रहे हैं  क्योंकि उन्हे राम भक्तों की ताकत का एहसास हो गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। यूपी के उपमुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा ने कहा कि  चुनाव आते ही  विपक्षी दलों के लोग मौसमी राम भक्त बन गए हैं। आज वे घंटा बजाने व हनुमान चालीसा के पाठ का अभ्यास कर रहे हैं  क्योंकि उन्हे राम भक्तों की ताकत का एहसास हो गया है। प्रधानमंत्री मोदी और सीएम योगी ने मंदिर निर्माण की बाधाओं को दूर किया है और आज  तेजी से राम मंदिर का निर्माण हो रहा है। उन्होंने कहा कि समाज में विघटनकारी ताकतें फिर सक्रिय हो गई हैं ।

पढ़ें :- Akhilesh का योगी पर बड़ा अटैक, बोले- टीईटी पेपर बीयर के गोदाम के पते पर ‘गोपनीय छपाई’ का बड़ा घोटाला

वे समाज  को जाति धर्म में बांटना चाहती हैं। महाराष्ट्र में  कभी भाजपा के साथ सत्ता में रहने वाले भी पार्टी के खिलाफ साजिश कर रहे हैं। देश में कुछ शक्तियां ऐसी हैं जिनकी मानसिकता संकीर्ण  है। ये ऐसे लोग है जो प्रधानमंत्री के सामर्थ से घबराते हैं। चीन और पाकिस्तान नहीं चाहते हैं कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार  आए। यह विनाशकारी ताकते हैं जो भयाक्रान्त है तथा देश में अपने प्रतिबिम्ब ढूढ रही हैं। डा शर्मा ने कहा कि आज के विपक्ष के पास कोई  नीति व सिद्धान्त नहीं हैं। वह केवल विरोध के लिए विरोध कर रहा है। उन्होंने  कहा  कि  गरीब के घर को बनवाना , उसके घर में शौचालय का निर्माण कराना  , फ्री में बिजली का कनेक्शन देना , फ्री में गैस का कनेक्शन देना , किसान के खाते में 6000 रुपए देना , गरीब को फ्री में राशन देना  आदि  क्या अपराध है।

बिल्कुल नहीं बल्कि यह मोदी योगी सरकार  की जनता के प्रति समर्पण और काम करने की भावना है। इस सरकार ने जाति और धर्म देखे बिना   गरीब के लिए काम किया है। पुरनियां लखनऊ में बाल्मिीकि समाज सामाजिक सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए   उन्होंने कहा कि भाजपा ने बाल्मीकि समाज को हमेशा सम्मान दिया है। पार्टी के सर्वोच्च पद पर इस समाज को भी स्थान मिला था। यह भी हर्ष का विषय है कि इस समाज से  जो भी विधायक , सांसद , महापौर  चुनकर आए हैं वे सभी भाजपा के सदस्य हैं। इस समाज को पार्टी ने हर स्तर पर उचित सम्मान और प्रतिनिधित्व प्रदान किया है। डा शर्मा ने कहा कि बाल्मीकि समाज के लोगों के खून में भारतीयता हिन्दुत्व और राम के विचारों की धारा दौडती है।  देश के प्रति समर्पण व देश की रक्षा का भाव  उनकी पहचान है।

इस समाज के लोग  अदभुत व विलक्षण शक्ति वाले भगवान बाल्मीकि  के वंशज है जिन्होंने मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान राम के बारे में बताया। भगवान राम के मंदिर के निर्माण में भी समाज के लोगों ने बढ चढकर भाग लिया। उनका कहना था कि भाजपा को वोट देने का अर्थ राष्ट्र की  एकता के यज्ञ में आहूति देना  है। इसका अर्थ बाबा साहेब के समानता के विचार के पक्ष में मत देना भी हैै। भाजपा के पक्ष में मतदान का अर्थ भगवान बाल्मीकि  की प्रभु राम के बारे में जो कल्पना थी उस राम राज्य की स्थापना के पक्ष में मतदान है। इसलिए  बहकावे में नहीं आना है। इस समाज की शक्ति बढे इसके लिए भाजपा का साथ जरूरी है। वर्तमान सरकार ने पारदर्शी तरह से साढे चार लाख लोगों को नौकरी दी है जिसमें अनुसूचित  समाज को  पहली बार बडी हिस्सेदारी मिली है। पहली बार हर समाज के लोगों के साथ न्याय हुआ है। सरकार सबका साथ सबका विकास के मंत्र पर काम करके पंडित दीनदयाल उपाध्याय के गैर बराबरी दूर करने के   सपने को साकार कर रही है।

बाल्मीकि समाज के बच्चों को शिक्षित बनाने के पंडित दीनदयाल उपाध्याय  एवं बाबा साहेब  के सपने को भाजपा सरकार साकार कर रही है। उन्होंने कहा कि पहले एक सरकार  आई थी पर उसने बाल्मीकि समाज के लिए कुछ नहीं किया।  उस समय में समाज के लोगों को नीचे बैठना पडता था पर आज भाजपा की सरकार में हर व्यक्ति बराबर है । मुख्यमंत्री के साथ समाज के लोग भी बैठते हैं।उन्होंने पिछले दो कुम्भ में सफाई की तुलना करते हुए कहा कि सपा सरकार के समय में आयोजित कुम्भ में भाग लेने आए मारीशस के राष्ट्रपति ने वहां पर गंदगी देख कर स्नान तक नहीं किया था। इस बार जब भाजपा की सरकार में वे प्रधानमंत्री के साथ एक बार फिर कुम्भ में भाग  लेने आए तो उन्होंने बेहतरीन सफाई व्यवस्था को देखकर न केवल स्नान किया बल्कि आचमन भी किया।

पढ़ें :- शिवसेना का ममता पर पलटवार, बोली- कांग्रेस को राष्ट्रीय सियासत से दूर करने की कल्पना ‘फासिस्ट’ ताकतों को बल देने जैसा

मारीशस के राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री से सफाई व्यवस्था की सराहना करते हुए कहा कि जहां इतने लोग आते हैं वहंा इस प्रकार की सफाई कैसे होती है। इसके जवाब में प्रधानमंत्री ने इस समाज की महिलाओं की तरफ इशारा करते हुए कहा था कि जहां ये हैं वहां सब कुछ संभव है। इसके बाद जो कुछ हुआ वैसा केवल पढा  गया था देखा नहीं था , कि सुदामा की दशा देखकर भगवान कृष्ण की आंख में आंसू आ गए और उन्हीं आंसुओं से उन्होंने सुदामा के चरण धो दिए । उसी प्रकार कुम्भ में देश के सर्वोच्च नेता और प्रधानमंत्री ने समर्पण भाव से बाल्मीकि समाज के लोगों के न केवल पैर धोए बल्कि उन्हें माथे से भी लगाया। इस समाज को इतना सम्मान  पहले किसी ने नहीं दिया था।   वर्तमान सरकार भी इस समाज को सम्मान और सुरक्षा दे रही है। आज  जीवनरक्षक उपकरणों के बिना  सफाई कर्मचारी से सफाई कराना प्रतिबंधित है।

आज तक  केवल भाजपा ने इस समाज को सम्मान देने का काम किया है । किसी अन्य दल ने इस समाज की बेहतरी के लिए कोई काम नहीं किया। हमने  महापौर कार्यकाल के दौरान  समाजिक परिवर्तन स्थल के पास भगवान बाल्मीकि के  प्रेरणास्थल का निर्माण कराया है। इसके अलावा गोमती नदी के तट पर बाल्मीकि प्रेरणा उपवन का भी निर्माण कराया। डा शर्मा ने कहा कि बाल्मीकि समाज के लोगों के साथ भाजपा का चोली दामन का साथ है। आज भी वे  जहां रहते हैं  उसके आस पास सफाई कर्मियों की बस्ती है।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...