1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. यूपी: टीवी पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत के मामले में दर्ज हुई हत्या की एफआईआर

यूपी: टीवी पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत के मामले में दर्ज हुई हत्या की एफआईआर

उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को दुरूस्त रखने के दावे सिर्फ कागजों में किए जा रहे हैं। अपराधी बेखौफ होकर सड़कों पर वारदात कर रहे हैं और कानून व्यवस्था के दावों को पोल खोल रहे हैं। ताजा मामला प्रतापगढ़ जिले का है, जहां पर टीवी पत्रकार की संदिग्ध हालात में मौत हो गयी।

By शिव मौर्या 
Updated Date

प्रतापगढ़। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को दुरूस्त रखने के दावे सिर्फ कागजों में किए जा रहे हैं। अपराधी बेखौफ होकर सड़कों पर वारदात कर रहे हैं और कानून व्यवस्था के दावों को पोल खोल रहे हैं। ताजा मामला प्रतापगढ़ जिले का है, जहां पर टीवी पत्रकार की संदिग्ध हालात में मौत हो गयी।

पढ़ें :- प्रतापगढ़ : जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी पर बाधा डालने का आरोप, मुकदमा दर्ज

इस वारदात के बाद पुलिस इसे हादसा बताने में जुटी रही लेकिन परिस्थिति हत्या की ओर इशारा कर रहे थे। ​पुलिस की भूमिका पर सवाल और विपक्ष के निशाने के बाद हत्या की एफआईआर दर्ज की गयी। दरअसल, पत्रकार ने पहले ही अपने ऊपर हमले की आशंका जताते हुए एडीजी प्रयागराज जोन को पत्र भी भेजा था।

वहीं, सुलभ की पत्नी रेणुका श्रीवास्तव का आरोप है कि उनके पति की हत्या की गई है। उन्होंने एडीजी प्रयागराज प्रेम प्रकाश से से घटना की सीबीआइ जांच कराने की मांग की। इस पर एडीजी ने आश्वासन दिया कि सीबीआइ से जांच कराने की संस्तुति वह शासन से करेंगे। उनकी मौत पर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी उत्तर प्रदेश सरकार पर तंज कसा है।

गौरतलब है कि, प्रतापगढ के एक टीवी चैनल के पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की रविवार देर रात संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। वह घायल अवस्था में रविवार की रात करीब 10 बजे नगर कोतवाली क्षेत्र के कटरा रोड पर मिले थे। राहगीरों की सूचना पर पुलिस राजकीय मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय ले आई, यहां पर चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

 

पढ़ें :- प्रतापगढ़ जिला पंचायत चुनाव में जनसत्ता दल की बड़ी जीत, 40 मतों के साथ किया कब्जा

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...