1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. यूपी सरकार अपने परंपरागत कारीगरों व उद्यमियों को स्वावलंबी बना रही है : सीएम योगी

यूपी सरकार अपने परंपरागत कारीगरों व उद्यमियों को स्वावलंबी बना रही है : सीएम योगी

आज की तिथि दो मायने में महत्वपूर्ण है। भगवान विश्वकर्मा (Lord Vishwakarma) जी की जयंती का पावन दिवस व दुनिया के सबसे लोकप्रिय राजनेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) जी का जन्मदिवस भी आज है। इस अवसर पर मैं आप सभी को हृदय से बधाई व शुभकामनाएं देता हूं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने ये बातें 'विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत आयोजित कार्यक्रम में कहीं।

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। आज की तिथि दो मायने में महत्वपूर्ण है। भगवान विश्वकर्मा (Lord Vishwakarma) जी की जयंती का पावन दिवस व दुनिया के सबसे लोकप्रिय राजनेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) जी का जन्मदिवस भी आज है। इस अवसर पर मैं आप सभी को हृदय से बधाई व शुभकामनाएं देता हूं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने ये बातें ‘विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत आयोजित कार्यक्रम में कहीं।

पढ़ें :- सपा का नारा 'आ रहा हूं' का मतलब अपहरण, गुंडागर्दी और अराजकता लेकिन यूपी में ये नहीं चलेगा : सीएम योगी

पढ़ें :- सीएम योगी ने भदोही को दी कई योजनाओं की सौगात, कहा-नई पहचान के साथ आगे बढ़ रहा है जनपद

इस दौरान सीएम योगी (Cm Yogi) ने 21 हजार प्रशिक्षित लाभार्थियों को टूल किट और मुद्रा योजना के तहत ऋण वितरित किया। सीएम ने कहा कि यूपी सरकार (UP government) ने दिसंबर 2018 में ‘विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना’ लाकर हस्तशिल्पियों को सम्मान व उनके स्वावलंबन के साथ समाज को आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर किया है।

उन्होंने कहा कि, मुझे प्रसन्नता है कि हस्तशिल्पियों ने यूपी सरकार की योजनाओं का भरपूर लाभ लिया है। प्रदेश में एक जिला एक उत्पाद व ‘विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना’ ने रोजगार सृजन में अभूतपूर्व सफलता प्रदान की है।

पढ़ें :- यूपीः सीएम योगी ने दिया सुल्तानपुर को तोहफा, राजकीय मेडिकल कॉलेज का किया शिलान्यास

CM ने कहा कि, मुझे प्रसन्नता है कि ‘विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना’ के अंतर्गत अब तक 68,400 से अधिक लोगों को प्रशिक्षण देकर उन्हें लगभग 100 करोड़ के उन्नत किस्म के टूलकिट भी उपलब्ध कराए गए हैं।

आज प्रदेश के 21,000 से अधिक कारीगरों व हस्तशिल्पियों को टूलकिट वितरित किए जा रहे हैं। यूपी सरकार अपने परंपरागत कारीगरों व उद्यमियों को स्वावलंबी बना रही है, जिससे वह आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य को प्राप्त करने में अपना योगदान दे सकें।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...