1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. धार्मिक स्थलों के संचालन के लिए अध्यादेश लाने की तैयारी में यूपी सरकार

धार्मिक स्थलों के संचालन के लिए अध्यादेश लाने की तैयारी में यूपी सरकार

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। धार्मिक स्थलों के संचालन हेतु प्रदेश सरकार अध्यादेश लाने की तैयारी कर रही है। मंगलवार की शाम सीएम योगी ने अधिकारियों की एक अहम बैठक बुलाई है। बैठक में सीएम धार्मिक स्थलों के रखरखाव, पंजीकरण और संचालन से जुड़े अध्यादेश का प्रेजेंटेशन देखेंगे। प्रदेश के मंदिरों, स्जिदों और अन्य धार्मिक स्थलों के पंजीकरण और संचालन के लिए नियम कायदे सरकार तय करेगी।

पढ़ें :- Corona new variants: कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर UP सरकार अलर्ट, इन जिलों में विशेष नजर रखने के निर्देश

बैठक में अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी धार्मिक स्थल रजिस्ट्रेशन एवं रेगुलेशन का प्रेजेनटेशन देंगे। सरकार धर्मार्थ कार्य विभाग में निदेशालय का गठन करेगी। वर्तमान समय तक विभाग महज चार अफसरों के सहारें चल रहा था। अब निदेशालय में 19 कार्मिक तैनात होंगे।

रकार ने यह फैसला काशी विश्वनाथ मंदिर विस्तारीकरण-सुन्दरीकरण योजना के क्रियान्वयन, काशी विश्वनाथ विशिष्ट क्षेत्र परिषद अधिनियम, कैलाश मानसरोवर भवन गाजियाबाद के संचालन और प्रबंधन के अलावा सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुपालन में सभी धार्मिक स्थलों के रजिस्ट्रेशन और रेग्यूलेशन से सम्बंधित अध्यादेश को बनाए जाने तथा राजगोपाल ट्रस्ट अयोध्या के प्रबंधन आदि महत्वपूर्ण कार्यों को सुचारू से संचालित करने के लिए किया है।

11 दिसम्‍बर को हुई यूपी कैबिनेट की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई और शासनादेश जारी किया गया। अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि अब धर्मार्थ कार्य विभाग में अपर मुख्य सचिव / प्रमुख सचिव की निगरानी में निदेशालय चलेगा। निदेशालय में निदेशक के अलावा 2 संयुक्त निदेशक, एक लेखाधिकारी, 2 कार्यालय अधीक्षक, 3 स्टेनो / आशुलिपिक, 2 स्थापना सहायक, 2 कम्पूयटर सहायक, 3 वाहन चालक और 3 अनुदेशक तैनात होंगे। इस निदेशालय का मुख्‍यालय वाराणसी में और उप कार्यालय गाजियाबाद स्थित मानसरोवर भवन में होगा।

 

पढ़ें :- Gorakhpur: युवक की हत्या ने पकड़ा सियासी तूल, पीड़ित परिवार ने घर के बाहर लगाया पलायन का पोस्टर

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...