प्रदेश में आने-जाने वालों के लिए यूपी सरकार ने शुरू किया रजिस्ट्रेशन, बना पोर्टल

cm yogi
प्रदेश में आने जाने वालों के लिए यूपी सरकार ने शुरू किया रजिस्ट्रेशन, बना पोर्टल

लखनऊ। भारत में कोरोना के कहर के चलते बीते 25 मार्च से लॉकडाउन चल रहा है, इस दौरान हजारों की तादात में प्रवासी दूसरे राज्यों में फंस गये थे। अब लगभग सभी राज्य अपने लोगों को दूसरे राज्यों से ला रहे है, एसे में उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार ने भी राज्यों के बाहर फंसे प्रवासियों की वापसी शुरू कर दी है। और इसके लिए खास पोर्टल की शुरुआत की गयी है। यही नहीं, जो लोग दूसरे राज्यों में फंसे हैं या फिर यूपी से अपने राज्य जाना चाहते हैं वो इस पोर्टल के जरिए अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। जनसुनवाई पोर्टल https://jansunwai.up.nic.in में रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया आज यानी पांच मई की दोपहर से शुरू हो गई है।

Up Government Starts Registration For People Coming To The State Made Portal :

लगातार देश में कोरोना आपदा को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की तारीफ हो रही है। कोरोना वॉरियर्स को सुरक्षा की गारंटी देने के बाद उन्‍होंने दूसरे राज्‍यों में फंसे छात्रों की सुध ली तो इसके बाद श्रमिकों (कामगारों) को लेकर बड़ा कदम उठाया। अब मुख्यमंत्री के निर्देशों पर एनआईसी द्वारा उत्तर प्रदेश के जनसुनवाई पोर्टल jansunwai.up.nic.in पर पंजीकरण की यह सुविधा ‘उत्तर प्रदेश से अन्य राज्य जाने हेतु’ और ‘अन्य राज्यों से उत्तर प्रदेश आने हेतु’ लिंक्स पर उपलब्ध करा दी गई है। यह जनसुनवाई पोर्टल एंड्रॉइड एप पर भी उपलब्ध है।

जबकि जनसुनवाई पोर्टल पर किए गए पंजीकरण को यात्रा की अनुमति नहीं माना जाएगा। वहीं सक्षम स्तर से अनुमति मिलने पर आवेदक को सूचित भी किया जाएगा। हालांकि पंजीकरण प्रक्रिया में गलत जानकारी देने पर महामारी अधिनियम या आपदा प्रबन्धन अधिनियम के अंतर्गत कार्रवाई की जा सकती है।

जनसुनवाई पोर्टल पर लोगों को अपना नाम और उम्र के साथ यात्री की श्रेणी, मोबाइल नंबर, ई-मेल, पहचान पत्र संख्‍या, अकेले या फिर परिवार के साथ यात्रा करने की जानकारी के साथ यात्रा का तरीका, आवेदक का वर्तमान पता, आवेदक या उसके परिवार को सर्दी या खांसी तो नहीं है, आवेदक या उसके परिवार को 14 दिन के लिए क्‍वारंटाइन किया गया है या नहीं। अगर किया गया है तो कब से कब तक और जिस जगह
जाना चाहते हैं वहां का पता और वहां मौजूद व्‍यक्ति का नाम और मोबाइल नंबर देना जरूरी है।

लखनऊ। भारत में कोरोना के कहर के चलते बीते 25 मार्च से लॉकडाउन चल रहा है, इस दौरान हजारों की तादात में प्रवासी दूसरे राज्यों में फंस गये थे। अब लगभग सभी राज्य अपने लोगों को दूसरे राज्यों से ला रहे है, एसे में उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार ने भी राज्यों के बाहर फंसे प्रवासियों की वापसी शुरू कर दी है। और इसके लिए खास पोर्टल की शुरुआत की गयी है। यही नहीं, जो लोग दूसरे राज्यों में फंसे हैं या फिर यूपी से अपने राज्य जाना चाहते हैं वो इस पोर्टल के जरिए अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। जनसुनवाई पोर्टल https://jansunwai.up.nic.in में रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया आज यानी पांच मई की दोपहर से शुरू हो गई है। लगातार देश में कोरोना आपदा को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की तारीफ हो रही है। कोरोना वॉरियर्स को सुरक्षा की गारंटी देने के बाद उन्‍होंने दूसरे राज्‍यों में फंसे छात्रों की सुध ली तो इसके बाद श्रमिकों (कामगारों) को लेकर बड़ा कदम उठाया। अब मुख्यमंत्री के निर्देशों पर एनआईसी द्वारा उत्तर प्रदेश के जनसुनवाई पोर्टल jansunwai.up.nic.in पर पंजीकरण की यह सुविधा 'उत्तर प्रदेश से अन्य राज्य जाने हेतु' और 'अन्य राज्यों से उत्तर प्रदेश आने हेतु' लिंक्स पर उपलब्ध करा दी गई है। यह जनसुनवाई पोर्टल एंड्रॉइड एप पर भी उपलब्ध है। जबकि जनसुनवाई पोर्टल पर किए गए पंजीकरण को यात्रा की अनुमति नहीं माना जाएगा। वहीं सक्षम स्तर से अनुमति मिलने पर आवेदक को सूचित भी किया जाएगा। हालांकि पंजीकरण प्रक्रिया में गलत जानकारी देने पर महामारी अधिनियम या आपदा प्रबन्धन अधिनियम के अंतर्गत कार्रवाई की जा सकती है। जनसुनवाई पोर्टल पर लोगों को अपना नाम और उम्र के साथ यात्री की श्रेणी, मोबाइल नंबर, ई-मेल, पहचान पत्र संख्‍या, अकेले या फिर परिवार के साथ यात्रा करने की जानकारी के साथ यात्रा का तरीका, आवेदक का वर्तमान पता, आवेदक या उसके परिवार को सर्दी या खांसी तो नहीं है, आवेदक या उसके परिवार को 14 दिन के लिए क्‍वारंटाइन किया गया है या नहीं। अगर किया गया है तो कब से कब तक और जिस जगह जाना चाहते हैं वहां का पता और वहां मौजूद व्‍यक्ति का नाम और मोबाइल नंबर देना जरूरी है।