सीएम योगी आदित्यनाथ पर दर्ज मुकदमा वापस लेगी यूपी सरकार

गांव, गौ और गंगा के बिना देश नहीं बच सकता: योगी
सीएम योगी आदित्यनाथ का 45वां जन्मदिन आज

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यना‌थ सहित कई अन्य नेताओं पर दर्ज मुकदमें वापस लेने का फैसला लिया है। इस संबंध में प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक की अनुमति के बाद आदेश जारी कर दिया गया है। इस आदेश के बाद अब योगी आदित्यनाथ सहित 13 अन्य लोगों के खिलाफ गोरखपुर के पीपीगंज थाने में दर्ज केस वापस ले लिए जाएंगे। जिनमें योगी के अलावा केंद्रीय मंत्री शिवप्रताप शुक्ल भी हैं।

बता दें, योगी सरकार ने हाल ही में एक कानून बनाया है, जिसके तहत 20,000 राजनीतिक मुकदमे वापस लिए जाएंगे। योगी आदित्यनाथ पर गोरखपुर के पीपीगंज इलाके में धारा 144 तोड़कर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने का इल्जाम था। इस प्रदर्शन में उनके साथ मौजूदा केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिवप्रताप शुक्ल और गोरखपुर के सहजनवा से बीजेपी विधायक शीतल पांडे के भी शामिल होने का आरोप है। लेकिन सरकार यह मुकदमा अब वापस ले रही है।

{ यह भी पढ़ें:- गाजियाबाद : भाजपा विधायक की गाड़ी पर बदमाशों ने बरसाई गोलियां }

कांग्रेस ने कार्टून के जरिए बोला हमला
योगी सरकार के इस फैसले पर कांग्रेस ने कार्टून के जरिए हमला बोला है। कांग्रेस ने अक कार्टून ट्वीट किया जिसमें लिखा है, ”अपराध में यूपी भले भी अव्वल हो गया हो लेकिन इतने ‘अच्छे दिन’ पहले कभी नहीं आए. जब सब कुछ खुद ही हों तो फिर बरी तो होना ही था।’

{ यह भी पढ़ें:- बाराबंकी: हाईस्कूल के टॉपर को दिया गया चेक बाउंस, सीएम योगी ने किया था सम्मानित }

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यना‌थ सहित कई अन्य नेताओं पर दर्ज मुकदमें वापस लेने का फैसला लिया है। इस संबंध में प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक की अनुमति के बाद आदेश जारी कर दिया गया है। इस आदेश के बाद अब योगी आदित्यनाथ सहित 13 अन्य लोगों के खिलाफ गोरखपुर के पीपीगंज थाने में दर्ज केस वापस ले लिए जाएंगे। जिनमें योगी के अलावा केंद्रीय मंत्री शिवप्रताप शुक्ल भी हैं। बता दें, योगी सरकार ने हाल ही…
Loading...