हौसला पोषण मिशन में अपेक्षित सहयोग न करने वालों पर कार्रवाई के निर्देश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने हौसला पोषण मिशन के संचालन में अपेक्षित सहयोग न करने वाले सात मुख्य चिकित्सा अधिकारियों, 18 अन्य अधिकारियों और 14 आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिये हैं। मुख्य सचिव राहुल भटनागर ने यह निर्देश बृहस्पतिवार को राज्य पोषण मिशन की कार्यकारिणी समिति की छठी बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिये। बैठक में ही पोषण संबंधी विषय को बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से कक्षा एक से आठ तक के पाठ्यक्रम में सम्मिलित करते हुये इसे आगामी शैक्षिक सत्र से लागू कराने के निर्देश दिये।



क्या गर्भवती महिलाओं को मिल रहा हौंसला पोषण योजना का लाभ, एक जांच तो बनती है CM साहब

भटनागर ने मिशन में अपेक्षित सहयोग न करने वाले इलाहाबाद, बलिया, बरेली, चित्रकूट, अम्बेडकरनगर, कुशीनगर व फरूखाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिये। इसके अलावा बरेली, फतेहपुर, लखीमपुर खीरी व इटावा के जिला कार्यक्रम अधिकारियों, अम्बेडकरनगर, लखनऊ, श्रावस्ती, फैजाबाद व चित्रकूट के सीडीपीओ व आठ मुख्य सेविकाओं व 14 आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के विरुद्ध भी तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिये हैं। मुख्य सचिव ने माध्यमिक शिक्षा विभाग को भी कक्षा 9 से 12 तक के पाठ्यक्रम में आगामी शैक्षिक सत्र से पोषण सम्बन्धी विषय को सम्मिलित करने के लिए आगामी दो माह में आवश्यक कार्रवाई प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराने के निर्देश दिये हैं।

उन्होंने राज्य पोषण मिशन की ओर से पोषण सम्बन्धी विषयों पर बनायी गई विज्ञापन फिल्मों एवं रेडियो जिंगल्स का प्रसारण कराये जाने के लिए सूचना विभाग को चार करोड़ 46 लाख की धनराशि उपलब्ध कराने पर सहमति व्यक्त की। उन्होंने राज्य पोषण मिशन की ओर से यूनिसेफ के सहयोग से तैयार किये गये वर्ष 2024 तक की कुपोषण की रोकथाम सम्बन्धी रणनीति को अनुमोदित करते हुये कहा कि योजना के अनुसार सम्बन्धित विभागों को आवश्यक कार्ययोजना एवं बजट के प्रावधान के लिये आवश्यक निर्देश जारी करना होगा।




ज्ञात हो कि मुख्य सचिव के निर्देश के क्रम में प्रदेश के समस्त जिलों में अतिकुपोषित बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं के लिये संचालित की जा रही हौसला पोषण मिशन की स्थलीय समीक्षा के लिये विशेष सचिव स्तरीय अधिकारी भेजे गये थे। बैठक में अधिकारियों की समीक्षा रिपोर्ट में बताया गया कि आईसीडीएस, पंचायतीराज एवं स्वास्य विभाग के अधिकारी व फील्ड कर्मचारी कुछ जनपदों में हौसला पोषण योजना के संचालन में अपेक्षित सहयोग नहीं कर रहे हैं। हौसला पोषण मिशन की स्थलीय समीक्षा में बरेली में जिला विकास अधिकारी का भी पर्यवेक्षण शिथिल होने का तय संज्ञान में लाया गया। इस पर मुख्य सचिव ने निर्देश दिये कि इस संबंध में जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी से स्पष्टीकरण प्राप्त किया जाये।

Loading...