1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. यूपीः माता-पिता की सेवा नहीं की तो संपत्ति से हो सकते हैं बेदखल, योगी सरकार बना रही कानून

यूपीः माता-पिता की सेवा नहीं की तो संपत्ति से हो सकते हैं बेदखल, योगी सरकार बना रही कानून

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार अपने कामों को लेकर अक्सर चर्चाओं में रहती है। जनहित समेत अन्य मुद्दों को लेकर यूपी सरकार कई साहसिक कदम उठाए हैं। वहीं, अब यूपी सरकार एक और बड़ा कदम उठाने जा रही है। इसके जरिए बुजुर्ग माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों को लाभ पहुंचेगा। दरअसल, यूपी सरकार माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों के भरण-पोषण एवं कल्याण नियमावली 2014 में संशोधन करने की तैयारी कर रही है।

पढ़ें :- MSP का मुद्दा: केंद्र सरकार बातचीत के लिए हुई तैयार, मांगे 5 किसान नेताओं के नाम

इसमें बेदखली की प्रक्रिया जोड़ी जाएगी। राज्य विधि आयोग ने संबंधित प्रस्ताव का प्रारूप तैयार कर शासन को भेजा है। अगली कैबिनेट की बैठक में इस नियमावली संशोधन को मंजूरी मिल सकती है। हालांकि सरकार की ओर कोई जानकारी नहीं मिली है। बता दें कि, संशोधन में बेदखली भी जोड़ा जा सकता है। प्रस्तावित संशोधन में बुजुर्ग माता पिता के बच्चों के साथ रिश्तेदारों को भी रखा गया है।

इसमें बेटा और रिश्तेदार बुजुर्ग माता- पिता को परेशान करता है तो पीड़ित एसडीएम या प्रधिकरण में केस कर सकते हैं। कार्रवाई के बाद मां-बाप अपने बेटे को संपत्ति से बेदखल कर सकते हैं। गौरतलब है कि वर्ष 2014 में यूपी में माता-पिता तथा वरिष्ठ नागरिकों के भरण-पोषण एवं कल्याण नियमावली बनी थी। नियमावली बनने के बाद सरकार ने इसको गंभीरता से नहीं लिया था। बुजुर्ग माता-पिता एवं वरिष्ठ नागरिकों की सम्पति के संरक्षण के लिए कोई भी विस्तृत कार्य योजना नहीं बनाई गई थी।

 

पढ़ें :- Corona new variant: सीएम योगी बोले-दूसरे देशों से आ रहे हर व्यक्ति की जांच की जाए
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...