यूपी: मंत्री बदले तो बदल दी गयी कार्यदायी संस्था, खेल मंत्री का अजीब खेल

upendra tiwari
यूपी: मंत्री बदले तो बदल दी गयी कार्यदायी संस्था, खेल मंत्री का अजीब खेल

बरेली। उत्तर प्रदेश के खेल निदेशालय का अजीबो गरीब फरमान जारी हुआ है। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ की भ्रस्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की ​नीति को उन्ही के मंत्री पलीता लगा रहे हैं। ताजा मामला बरेली का है, यहां स्पोर्ट स्टेडियम में निर्मित तरणताल के फिल्ट्रेशन प्लांट को लेकर हुए टेंडर में बड़ा खेल हुआ है।

Up If The Minister Changes The Executive Organization Was Changed The Sports Ministers Strange Game :

दरअसल, 9 अक्टूबर 2019 को प्रदेश सरकार के तत्कालीन खेल मंत्री चेतन चौहान के निर्देश पर खेल निदेशालय ने बरेली स्पोर्ट स्टेडियम के तरणताल में फिल्ट्रेशन प्लांट लगाये जाने के लिए 212 करोड़ का प्रोजेक्ट बनाया था। इसके लिए उत्तर प्रदेश प्रोजेक्ट कॉरपोरेशन लिमिटेड को कार्यदायी संस्था बनाया गया था। कुछ समय बाद जब मंत्रालयों में फेरबदल हुआ और चेतन चौहान के स्थान पर उपे्न्द्र तिवारी को खेल मंत्रालय की जिम्मेदारी मिली तो विभाग में नया खेल शुरू हो गया।

28 जनवरी 2020 को खेल निदेशक डॉ आर पी सिंह ने प्रबन्ध निदेशक उत्तर प्रदेश प्रोजेक्ट कॉरपोरेशन लिमिटेड को पत्र​ लिखकर बताया कि अब स्पोर्ट स्टेडियम के तरणताल में फिल्ट्रेशन प्लांट लगाने का काम उत्तर प्रदेश समाज कल्याण निर्माण निगम लिमिटेड को दिया गया है। लिहाजा इससे जुड़ी पत्रावली एवं धनराशि नयी कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश समाज कल्याण लिमिटेड को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है।

बरेली। उत्तर प्रदेश के खेल निदेशालय का अजीबो गरीब फरमान जारी हुआ है। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ की भ्रस्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की ​नीति को उन्ही के मंत्री पलीता लगा रहे हैं। ताजा मामला बरेली का है, यहां स्पोर्ट स्टेडियम में निर्मित तरणताल के फिल्ट्रेशन प्लांट को लेकर हुए टेंडर में बड़ा खेल हुआ है। दरअसल, 9 अक्टूबर 2019 को प्रदेश सरकार के तत्कालीन खेल मंत्री चेतन चौहान के निर्देश पर खेल निदेशालय ने बरेली स्पोर्ट स्टेडियम के तरणताल में फिल्ट्रेशन प्लांट लगाये जाने के लिए 212 करोड़ का प्रोजेक्ट बनाया था। इसके लिए उत्तर प्रदेश प्रोजेक्ट कॉरपोरेशन लिमिटेड को कार्यदायी संस्था बनाया गया था। कुछ समय बाद जब मंत्रालयों में फेरबदल हुआ और चेतन चौहान के स्थान पर उपे्न्द्र तिवारी को खेल मंत्रालय की जिम्मेदारी मिली तो विभाग में नया खेल शुरू हो गया। 28 जनवरी 2020 को खेल निदेशक डॉ आर पी सिंह ने प्रबन्ध निदेशक उत्तर प्रदेश प्रोजेक्ट कॉरपोरेशन लिमिटेड को पत्र​ लिखकर बताया कि अब स्पोर्ट स्टेडियम के तरणताल में फिल्ट्रेशन प्लांट लगाने का काम उत्तर प्रदेश समाज कल्याण निर्माण निगम लिमिटेड को दिया गया है। लिहाजा इससे जुड़ी पत्रावली एवं धनराशि नयी कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश समाज कल्याण लिमिटेड को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है।