1. हिन्दी समाचार
  2. फर्जी एनकाउंटर मामले में यूपी देश में दूसरे स्थान पर, RTI में हुआ खुलासा

फर्जी एनकाउंटर मामले में यूपी देश में दूसरे स्थान पर, RTI में हुआ खुलासा

Up Is Number Two In The Case Of Fake Encounters

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लखनऊ। फर्जी एनकाउंटर के मामले में उत्तर प्रदेश पूरे देश में दूसरे स्थान पर है। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, सबसे ज्यादा फर्जी एनकाउंटर के मामले आंध्र प्रदेश से दर्ज हुए हैं, वहीं तीसरे स्थान पर ओडिशा है। जनवरी 2015 से मार्च 2019 के बीच आयोग की तरफ से जारी आंकड़ों में देशभर से कुल 211 फर्जी मुठभेड़ सामने आयी हैं। एक आरटीआई के जवाब में विभाग ने ये आंकड़े जारी किए हैं।

पढ़ें :- अंडरवर्ल्ड ले डूबा इन 5 अभिनेत्रियों का करियर, कोई गई जेल, तो कोई बनी संन्यासिनी

बता दें कि आगरा के आरटीआई कार्यकर्ता नरेश पारस ने मानवाधिकार आयोग से फर्जी एनकाउंटर को लेकर जवाब मांगा था। आरटीआई के जवाब में आयोग कहा है कि 211 मामलों में अभी 99 मामले लंबित हैं। 25 मामलों में आयोग ने पीड़ितों को मुआवजा देने का निर्देश दिया है। हालांकि इसमें यह भी देखने योग्य बात है कि कई मामले तो जानकारी के अभाव में आयोग तक पहुंचते ही नहीं हैं। ऐसे में फर्जी एनकाउंटर के वास्तविक आंकड़े कहीं और अधिक हो सकते हैं।

उत्तर प्रदेश में मार्च 2017 से जुलाई 2018 के दौरान यूपी पुलिस ने तीन हजार से ज्यादा एनकाउंटर किए। इनमें छह दर्जन अपराधियों को मारने का दावा किया गया। यूपी में 1200 एनकाउंटर में 40 ख़तरनाक अपराधी मारे गए। 2017 में यूपी पुलिस ने बताया था कि छह महीनों में 420 एनकाउंटर हुए थे। जिसमें 15 लोग मारे गए।

इसी तरह 2018 तक यूपी पुलिस ने 1,038 एनकाउंटर किए जिसमें 32 लोग मारे गए। उत्तर प्रदेश में एनकाउंटर में मारे गए 14 लोगों के परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने झूठी कहानी बताकर नियोजित तरीके से हत्या की।

पढ़ें :- इन अभिनेत्रियों ने अपने दम पर बनाई बॉलीवुड में पहचान, नंबर 1 को मिल चुके है 3 नेशनल अवॉर्ड

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...