केंद्र सरकार द्वारा पोषित 1000 करोड़ की अमृत योजना निरस्त, यूपी सरकार ने पैसों के अभाव में रोकी योजना

UP Jal Nigam, जल निगम भर्ती घोटाला
जल निगम भर्ती घोटाला: आजम खां ने सोच समझकर नोटिंग के साथ किए थे हस्ताक्षर

लखनऊ। यूपी सरकार ने पैसों के अभाव के चलते एक योजना को स्वीकृति के अंतिम चरण में निरस्त कर दिया। केंद्र सरकार द्वारा पोषित करीब 1000 करोड़ की अमृत योजना को शुरू करने से पहले ही रोक दिया गया। यूपी जल निगम को इस योजना को प्रभावी रूप देने की ज़िम्मेदारी दी गयी थी।

जल निगम द्वारा इस योजना का विस्तृत परीक्षण किया गया, लेकिन अमृत योजना को स्वीकृति के अंतिम चरण में धनअभाव के चलते निरस्त कर दिया गया। विभाग द्वारा इस योजना पर जमीनी काम भी शुरू हो गया था, लेकिन सरकार ने इस योजना को पैसे के अभाव में निरस्त करते हुए दोबारा पूरी प्रक्रिया करने शुरू करने की बात कही है।

{ यह भी पढ़ें:- सीएम योगी आदित्यनाथ का 46वां जन्मदिन आज }

लखनऊ। यूपी सरकार ने पैसों के अभाव के चलते एक योजना को स्वीकृति के अंतिम चरण में निरस्त कर दिया। केंद्र सरकार द्वारा पोषित करीब 1000 करोड़ की अमृत योजना को शुरू करने से पहले ही रोक दिया गया। यूपी जल निगम को इस योजना को प्रभावी रूप देने की ज़िम्मेदारी दी गयी थी। जल निगम द्वारा इस योजना का विस्तृत परीक्षण किया गया, लेकिन अमृत योजना को स्वीकृति के अंतिम चरण में धनअभाव के चलते निरस्त कर दिया गया।…
Loading...