यूपी के मंत्री ने पुलिस कर्मी को बोला सॉरी

लखनऊ। वीआईपी गाड़ियों से लालबत्ती हटने का असर गुरुवार की देर रात राजधानी लखनऊ में देखने को मिला। जहां 1090 चौराहे पर आधी रात ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी ने मंत्री की गाड़ी को रोक लिया। गाड़ी रोकने पर भड़के चालक ने उतर कर पहले सिपाही पर रुआब गाठना शुरू किया। इतने में मौके पर मौजूद सीओ और इंस्पेक्टर ने चालक को गाड़ी के शीशों पर लगी काली फिल्म का हवाला देकर फटकार लगाना शुरू कर दिया।



पुलिस कर्मियों के तेवर देख गाड़ी की पिछली सीट पर बैठे यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री नन्द गोपाल नंदी को अपना शीशा नीचे कर अपना परिचय देना पड़ा। इसके बाद पुलिस वाले कुछ नरम पड़े लेकिन मंत्री जी को समझ आ चुका था कि कानून उन्होंने भी तोड़ा है। मंत्री ने तुरंत पुलिस वालों से सॉरी बोला और आश्वासन दिया कि अगले दिन से उनकी गाड़ी पर काली फिल्म नहीं मिलेगी।




दरअसल हजरतगंज सीओ और इंस्पेक्टर गुरुवार को देर रात 1090 चौराहे पर चैकिंग अभियान चला रहे थे। शहर का यह चौराहा देर रात तक चहल पहल के लिए जाना जाता है। पुलिस वाले यहां बिना सीट बैल्ट गाड़ी चलाने वालों, काली फिल्म लगी गाड़ियों और फर्राटा भरते दोपहिया वाहनों की चैकिंग कर रहे थे। इसी दौरान करीब डेढ़ बजे मंत्री जी की कार फर्राटा भरते हुए चौराहे पर पहुंची तो पुलिस वालों ने उसे रोक लिया।

{ यह भी पढ़ें:- नकवी की बहन के साथ हुई घटना पर कांग्रेस ने योगी सरकार को घेरा }