1. हिन्दी समाचार
  2. यूपी विधानमंडल सत्र कल तक के लिए स्थगित, सर्वदलीय बैठक में हुआ फैसला

यूपी विधानमंडल सत्र कल तक के लिए स्थगित, सर्वदलीय बैठक में हुआ फैसला

Up Legislature Session Adjourned Till Tomorrow Decision In All Party Meeting

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानमंडल के मानसून सत्र के दूसरे दिन सदन की कार्यवाही शनिवार दोपहर 11 बजकर 23 मिनट तक स्थगित कर दी गई। दरअसल, बीजेपी विधायक जन्मेजय सिंह के निधन के बाद यह निर्णय लिया गया है। सत्र के शुरू होने से पहले हुई सर्वदलीय बैठक में यह फैसला लिया गया है।

पढ़ें :- दीनदयाल जी ने देश को एकात्म मानववाद जैसी प्रगतिशील विचारधारा दी : रवि किशन

बता दें कि, यूपी के देवरिया सदर सीट से बीजेपी विधायक जन्मेजय सिंह की गुरुवार देर रात हार्ट अटैक से ​मृत्यू हो गयी। तबियत खराब होने पर उन्हें परिजन सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे थे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें लोहिया संस्थान रेफर कर दिया। यहां मेडिसिन के डॉक्टरों ने देखकर कार्डियोलॉजी विभाग रेफर किया।

लोहिया संस्थान के प्रवक्ता और एमएस डॉ. विक्रम सिंह के मुताबिक पेस मेकर लगाने के दौरान ही उनकी मौत हो गई। उन्हें हार्ट अटैक आया था। इससे पहले सिविल अस्पताल में उनकी कोरोना वायरस संक्रमण की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। विधायक जन्मेजय सिंह इससे पहले बसपा से भी विधायक रह चुके थे।

दिवंगत सदस्यों को दी गई श्रद्धांजलि
विधानमंडल के मानसून सत्र के पहले दिन दोनों सदनों की कार्यवाही दिवंगत मंत्री कमल रानी वरुण, चेतन चौहान और मध्य प्रदेश के राज्यपाल रहे लालजी टंडन के अलावा वर्तमान व पूर्व सदस्यों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद शुक्रवार सवेरे 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई थी। विधानसभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत सभी दलों के नेताओं ने पूर्व सदस्यों के साथ ही गलवान घाटी के शहीद सैनिकों व कोरोना से जंग में जान गंवाने वाले योद्धाओं को भी याद किया और दो मिनट का मौन रखकर सभी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

हमलावार मूड में विपक्ष
विधानमंडल के मॉनसून सत्र में दूसरे दिन शुक्रवार को सरकार को विभिन्न मुद्दों पर घेरने के लिए विपक्ष के फिर से हंगामा करने के आसार हैं। गुरुवार को पहले दिन विधान भवन में ही समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी व कांग्रेस विधायक दलों की बैठक में जनसमस्याओं को सदन में उठाने की रणनीति तैयार की गई। समाजवादी सदस्य पार्टी कार्यालय से साइकिलों से विधानभवन पहुंचेंगे। नेता प्रतिपक्ष की अनुपस्थिति में नरेंद्र वर्मा, इकबाल महमूद व शैलेंद्र यादव ललई जैसे नेताओं पर नेतृत्व की जिम्मेदारी होगी।

पढ़ें :- ड्रग्स के खिलाफ मुहीम को आगे बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री जी का आभारी हूँ: सांसद रवि किशन

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...