1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Local Body Election 2022 : सपा और रालोद मिलकर ही लड़ेंगे चुनाव, सीटों का बंटवारा जल्द

UP Local Body Election 2022 : सपा और रालोद मिलकर ही लड़ेंगे चुनाव, सीटों का बंटवारा जल्द

UP Local Body Election 2022 : यूपी नगर निकाय चुनाव (UP Local Body Election) ऐलान दिसंबर में हो सकता है। स्थानीय निकाय चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग और जिला प्रशासन अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा है। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी जहां फुल चुनावी मोड में आ चुकी है, वहीं रालोद ने सपा संग मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला किया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

UP Local Body Election 2022 : यूपी नगर निकाय चुनाव (UP Local Body Election) ऐलान दिसंबर में हो सकता है। स्थानीय निकाय चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग और जिला प्रशासन अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा है। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी जहां फुल चुनावी मोड में आ चुकी है, वहीं रालोद ने सपा संग मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला किया है। विधानसभा चुनाव के बाद नगर निकाय चुनाव ( Nagar Nikay Chunav) में भी रालोद और सपा का गठबंधन बरकरार रहेगा। ऐसा दावा आरएलडी टीम के राष्ट्रीय संयोजक अनुपम मिश्रा (Anupam Mishra)ने किया है।

पढ़ें :- महराजगंज:एमएलसी चुनाव के मतदान स्थलों की तैयारियों का डीएम व एसपी ने लिया जायजा

रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी (RLD National President Jayant Choudhary) वर्तमान में दिल्ली में ही हैं। बुधवार को उन्होंने पार्टी के पदाधिकारियों से मुलाकात की। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता मोहम्मद इस्लाम ने जयंत चौधरी (Jayant Choudhary) से मुलाकात के बाद कहा कि सपा और रालोद मिलकर चुनाव लड़ेगी। विधानसभा के बाद नगर निकाय चुनाव में भी गठबंधन बरकरार रहेगा। हमारा गठबंधन मजबूत है और हम लोग अलग होने वाले नहीं हैं।

राष्ट्रीय संयोजक टीम आरएलडी अनुपम मिश्रा (RLD Anupam Mishra) ने कहा कि पार्टी ने जिलेवार कमेटी का गठन किया है। यह कमेटी सपा के पदाधिकारियों संग मिलकर अध्ययन कर रही है। किन सीटों पर रालोद और किन सीटों पर सपा मजबूती से चुनाव लड़ सकती है, इस पर रिपोर्ट तैयार कर रही है। इस रिपोर्ट के आधार पर राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी (Jayant Choudhary) और सपा मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के साथ मीटिंग होगी। साथ ही सीटें भी तय होंगी।

रालोद को अभी तक गांव की पार्टी माना जाता रहा है। वहीं अब शहर की पार्टी बनने के लिए भी जोर लगाएगी। इसके लिए नगर निकाय चुनाव ( Nagar Nikay Chunav) में मजबूती से लड़ने का फैसला किया है। लिहाजा वह पदाधिकारियों पर भी दांव लगाएगी। ऐसे लोगों को टिकट देगी जो संगठन में सक्रिय हैं और साथ ही सामाजिक रूप से भी जनता के साथ संघर्ष में तत्पर रहते हैं। नगर निकाय चुनाव ( Nagar Nikay Chunav)का कार्यकाल पांच जनवरी को समाप्त हो रहा है। दिसंबर में नगर निकाय चुनाव ( Nagar Nikay Chunav)करवाए जाने की है तैयारी है। 2017 में 16 नगर निगमों, 198 पालिका परिषद और 438 नगर पंचायतों में चुनाव हुए थे। इस बार 17 नगर निगम, 200 पालिका परिषद और 517 नगर पंचायतों में चुनाव होना हैं।

सपा के वरिष्ठ नेता मोहम्मद आजम खान की विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी गई है। उनके बेटे अब्दुल्ला आजम की सदस्यता पहले भी रद्द की गई थी। ऐसे में रालोद अब आजम खान का मुद्दा जनता के बीच ले जाने की तैयारी में है। चर्चा है इसके जरिये वह पश्चिम यूपी के मुस्लिम मतदाताओं के बीच राजनीतिक संदेश देगी।

पढ़ें :- गौतम अडानी का साम्राज्य तबाह करने वाले नाथन एंडरसन जानें कौन हैं?

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...