Love मैरिज से मौत तक की दास्तां, हत्या या हादसा, नहीं सुलझी गुत्थी

लखनऊ। हाईप्रोफ़ाइल और बहुचर्चित सारा सिंह की मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए सीबीआई ने पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि त्रिपाठी को कल रात गिरफ्तार कर लिया। बीती 9 जुलाई, 2015 को अमनमणि की पत्नी सारा सिंह की संदिग्‍ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। इस मामले की जांच सीबीआई कर रही थी। आपको बता दें कि इस मामले को लेकर मृतक सारा की मां सीमा सिंह ने अमनमणि पर हत्या करने का आरोप लगाते हुए सीबीआई जांच की मांग की थी और हाल ही में अमनमणि को नौतनवा विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी ने अपना प्रत्यासी घोषित किया था, जिसका सीमा सिंह ने जमकर विरोध भी किया।




बेटी को न्याय दिलाने के लिए मां सीमा सिंह ने सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव से लेकर पुलिस महकमे के आला-अधिकारियों तक से मुलाक़ात की थी, जिसके बाद यूपी सरकार की काफी फजीयत भी हुई थी। नतीजा ये हुआ कि अक्टूबर 2015 को प्रदेश सरकार की सिफारिश पर सीबीआई ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की। इस मामले में सीबीआई ने दो महीने में कई लोगों के बयान दर्ज किए। फोरेंसिक रिपोर्ट का पूरा अध्ययन किया, फिर जेल में बंद रहे अमनमणि से पूछताछ की लेकिन कुछ समय बाद रफ्तार सुस्त पड़ गई।




गोरखपुर के रहने वाले अमनमणि ने घरवालों की मर्जी के खिलाफ जाकर लखनऊ की रहने वाली सारा सिंह से जुलाई 2013 में आर्यसमाज मंदिर में शादी कर ली थी। हालांकि अमनमणि की इस शादी से उनके पिता अमरमणि बिलकुल भी खुश नहीं थे। शादी के बाद कुछ दिनों तक सब कुछ ठीक रहा, लेकिन बाद में दोनों में अनबन शुरू हो गयी, इस बात का खुलासा सारा की बहन नीति ने किया था। सारा की मां सीमा सिंह, बहन नीति और भाई सिद्धार्थ ने अमनमणि पर सारा की ह्त्या का आरोप लगाया था।

4

बहन नीति का बयान

बहन नीति का कहना है कि शादी के बाद से ही सारा टेंशन में रह रही थी। बहन नीति का कहना था कि अमनमणि सारा से मार पीट करता था। नीति ने कुछ तस्वीर भी दिखाई जिसमे सारा के शरीर पर चोट के निशान थे। नीति का कहना था कि सारा को कुछ दिनबाद पता चल गया था कि अमन के कुछ और भी लड़कियों के साथ रिश्ते हैं। इसके बाद से दोनों में अनबन रहने लगी।

फोन से मिली मौत की जानकारी

सारा ने अमनमणि को 25-26 अगस्त 2014 की रात 01.24 मिनट पर मैसेज किया। जिसमें लिखा था कि इतने डॉमिनेटिंग हो तुम कि तुमसे आंख उठाके बात करने में भी डर लगता है। इस पर अमन ने सारा को बाद में कॉल करने का मैसेज भेजा जिसके जवाब में सारा ने मैसेज करके पूछा, “व्हाट हैपंड, प्लीज टेल।” थोड़ी देर इन्तजार करने पर मैसेज का जवाब न मिलने पर सारा ने पूछा “किसी और से बात कर रहे हो? आ गया क्या किसी लड़की का फोन? ऑल द बेस्ट।”




अमन से तलाक चाहती थी सारा

सारा के भाई ने आशंका जताई थी कि अमनमणि के खराब बर्ताव के चलते सारा उससे तलाक लेना चाहती थी। इस बात के बारे में सारा ने अपनी बहन नीति से भी कहा था। सारा के स्टडी टेबल पर लगी एक स्टिकी भी मिली थी, जिसमें लिखा हुआ है, ‘Aman Mani Tripathi-Meet Lawyer File Divorce’ और इसके नीचे तारीख पड़ी थी 15 मई। तलाक की बात पर सारा के घरवालों का कहना था कि अगर बेटी का अमन से तलाक होता तो पहले अमन को कानूनन सारा को गुजारा भत्ता देना पड़ता और उसके बाद अमन के पिता अमरमणि को अपनी प्रॉपर्टी का बड़ा हिस्सा सारा को देना पड़ता। इन सब से बचने के लिए उम्रकैद की सजा काट रहे अमन के पिता अमरमणि ने सारा की हत्या की साजिश रची और हत्‍या को एक्‍सीडेंट का रूप दे दिया।

बता दें, अमनमणि को समाजवादी पार्टी ने 2017 विधानसभा चुनाव में अपना कैंडिडेट चुना है।
2

ये बातें कर रही हत्या की ओर इशारा–

* सारा के सर पर चोट लगी सीट के पीछे लगा था खून जबकि पूरी गाडी साफ़ थी?
* सारा की गर्दन में गहरा चोट का निशान कैसे ?
* इतने बड़े एक्सीडेंट के बाद भी कार में खून के निशान कहीं नहीं थे?
* हादसे के तुरंत बाद अमन के घरवाले बाद फिरोजाबाद पहुंच गए जबकि सारा के घरवालों को पता तक नहीं चला?
* हादसे में तो अमन भी घायल हुआ लेकिन उसके उसके शरीर पर खून के ताजे धब्बे क्यों नहीं पड़े?
* हादसे से तो पूरी गाडी डैमेज होनी चाहिए थी जबकि यहां तो सारा की तरफ वाली ही सीट डैमेज हुई?
* कार में तो दोनों ने सीटबेल्ट लगा रखी थी जबकि चोट सिर्फ सारा के सर पर ही लगी वहीं अमन के खरोंच तक नहीं आयी?
* हादसे के बाद अमन ने पुलिस से अपनी पहचान क्यों छुपाई?