अखिलेश के करीबी मंत्री पवन पांडे सपा से 6 साल के लिए निष्काषित

लखनऊ| यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के करीबी माने जाने वाले यूपी कैबिनेट के मंत्री पवन पांडे को पार्टी से छह साल के निष्कासित कर दिया गया है| पवन पांडे यूपी कैबिनेट में वन राज्य मंत्री हैं| समाजवादी पार्टी के यूपी प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने पवन पांडे को पार्टी से निकाले जाने का ऐलान एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए किया| पवन पांडे पर एमएलसी आशु मलिक से मारपीट का आरोप है| इसके अलावा उनपर पार्टी विरोधी गतिविधियों में भी लिप्त होने के आरोप लगे हैं| प्रेस कांफ्रेंस में शिवपाल ने यह भी कहा कि अब पार्टी में सबकुछ ठीक है| मैं वहीं करूंगा जो नेताजी मुलायम सिंह यादव कहेंगे|




कहीं कोई झगड़ा नहीं, परिवार व पार्टी एकजुट : मुलायम

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी में मचे घमासान के बाद सुलह के प्रयास में जुटे पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने मंगलवार को कहा कि परिवार एक है, पार्टी एक है, कहीं कोई झगड़ा नहीं है| अखिलेश यादव प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं, वही मुख्यमंत्री रहेंगे| मुलायम ने पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा, “मैं आपके समक्ष सिर्फ तीन बातें कहूंगा| हमारा परिवार एक है, पार्टी एक है| सभी लोग एक हैं| पार्टी के नेता और कार्यकर्ता भी एक हैं| प्रदेश और देश की जनता हमारे साथ है| हम सब एक हैं, सब ठीक है, कोई झगड़ा नहीं है|”

जब उनसे पूछा गया कि क्या आप भी मुख्यमंत्री बनने पर विचार कर रहे हैं तो उन्होंने कहा, “हम सिर्फ दो महीने के लिए क्यों मुख्यमंत्री बनेंगे| अगर विधायक चाहेंगे तो अखिलेश 2017 में मुख्यमंत्री बनेंगे|” मुलायम ने कहा, “हम लोग लोहिया जी के सिद्धांतों पर चलने वाले लोग हैं। हम उन्हीं की तरह काम करते हैं। हम गांव-गांव जाकर काम करने वाले लोग हैं|” अमर सिंह के सवाल पर मुलायम ने कहा, “अमर सिंह को बीच में क्यों लाते हो| अमर सिंह हमारे साथ हैं और साथ ही रहेंगे|”

पार्टी में कुछ लोग कर रहे साजिश

मुलायम ने कहा, “पार्टी में कुछ लोग साजिश कर रहे हैं, लेकिन पार्टी का कुछ नहीं कर पा रहे हैं| साजिश करने वालों का जनाधार नहीं|” मुलायम ने कहा कि अखिलेश पर किसी को कोई आपत्ति नहीं है। बर्खास्त मंत्रियों की वापसी के बारे में उन्होंने कहा, “इस पर फैसला मुख्यमंत्री को करना है| शिवपाल ने फिर मंत्री पद न मांगा है और न ही मैंने कहा है|” पार्टी कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में पार्टी के मुलायम के साथ प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव, कैबिनेट मंत्री तथा रजत जयंती समारोह के संयोजक गायत्री प्रसाद प्रजापति व विधान परिषद सदस्य आशु मलिक भी मौजूद थे|

मुलायम ने की अखिलेश-शिवपाल से मुलाकात

मुलायम ने मंगलवार को पहले पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव से मुलाकात की और उसके बाद वह मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिले| इसके बाद शिवपाल तथा बर्खास्त मंत्री ओम प्रकाश सिंह व नारद राय के साथ परिवहन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ मुलायम के साथ उनके आवास पर मुलाकात की| पार्टी मुख्यालय पर पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा, “मेरे पूरे राजनैतिक जीवन में जनता ने मुझे सदैव प्रेरणा दी है| उसने मुझे राजनीति की इस ऊचाई पर पहुंचाया| वह मेरे साथ रही है और मुझे सदा प्रेरणा देती है| मेरे लिए सब कुछ जनता है और मैं उसके लिए पूर्ण रूप से समर्पित हूं|”

मुलायम ने कहा, “मैं शुरू से ही समाजवादी राह पर चलता आ रहा हूं| डॉ. राम मनोहर लोहिाया और उनके सिद्धांतों से प्रेरणा लेता आ रहा हूं| अपने राजनैतिक संघर्ष में मैने गांव-गांव जाकर जनता कठिनाइयों को जाना व महसूस किया| उनके दुख-दर्द को दूर करने तथा उनको सुखी जीवन देने के लिए हरसंभव प्रयास किया और करता रहूंगा|” उन्होंने कहा, “हमारे समाज में व्याप्त असमानताओं को दूर करके हर आदमी को एक सम्मानजनक जीवन प्रदान करने के लिए मैंने निरंतर संघर्ष कया है, आज भी कर रहा हूं| अपने कार्यकर्ताओं को समाजवादी पार्टी के सिद्धांतों व विचारधारा के अनुसार जनता के कल्याण के लिए समर्पित होकर कार्य करने की अपील करता हूं|”