1. हिन्दी समाचार
  2. बदरीनाथ जा रहे थे यूपी के विधायक अमनमणि त्रिपाठी, लॉकडाउन उल्‍लंघन में मामला दर्ज

बदरीनाथ जा रहे थे यूपी के विधायक अमनमणि त्रिपाठी, लॉकडाउन उल्‍लंघन में मामला दर्ज

Up Mla Ammani Tripathi Going To Badrinath Case Registered For Lockdown Violation

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली: उत्‍तर प्रदेश के विवादित विधायक अमनमणि त्रिपाठी की मुश्किलें बढ़ गई हैं. लॉकडाउन उल्‍लंघन के मामले में उनके खिलाफ विभिन्‍न धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है. खास बात है कि नियमों की अनदेखी सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता स्वर्गीय आनंद सिंह बिष्ट के पितृ कार्य के नाम पर की गई है. हालांकि, सीएम योगी के भाई महेंद्र ने किसी भी पितृ कार्य से इनकार किया है.  

पढ़ें :- अनोखी शादी: कपल ने न बुलाया पंडित न लिए फेरे, ऐसे की शादी की जान उड़ गए सबके होश

दरअसल, उत्तराखंड पुलिस से बदसलूकी करना यूपी के विधायक अमनमणि त्रिपाठी को महंगा पड़ गया. पुलिस ने विधायक सहित 12 लोगों को हिरासत में ले लिया. इन पर आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. जानकारी मिली है कि बदरीनाथ धाम के कपाट खुले न होने के चलते अमनमणि त्रिपाठी सहित 12 लोग चमोली के कर्णप्रयाग पहुंच गये थे. इसपर कर्णप्रयाग पुलिस ने इनको रोका तो विधायक ने अपने रुतबे को दिखाकर पुलिस से ही बदतमीजी कर दी.

यूपी के बाहुबली विधायक अमनमणि त्रिपाठी समेत 12 लोगों को कर्णप्रयाग में कोरोना ड्यूटी में लगे अफसरों से बदसलूकी करने के बाद टिहरी पुलिस ने वापसी आते वक्त मुनिकीरेती में यह कार्रवाई की है. टिहरी पुलिस ने विधायक अमनमणि त्रिपाठी के काफिले को व्यासी थाना इलाके में रोक कर हिरासत में लिया. पुलिस ने अनुमति के विपरीत 12 लोगों पर आपदा एवं संक्रमण अधिनियम का उल्लंघन करने और सरकारी कार्य में व्यवधान उत्पन करने के चलते मुकदमा दर्ज किया.

तीन कारों में सवार होकर जा रहे थे बदरीनाथ

पुलिस का कहना है कि एमएलए त्रिपाठी ने जो लेटर दिखाया, उसमें उन्होंने यूपी के सीएम आदित्यनाथ के पिता के श्राद्ध कर्म के लिए वहां जाने की बात कही थी. पुलिस का कहना है कि ये सारे लोग रविवार को तीन कार में सवार होकर बदरीनाथ जा रहे थे. इस दौरान चमोली जिले की सीमा पर चेकिंग के दौरान इन सभी को वापस भेजा गया.

पढ़ें :- Skin को बनाना चाहते हैं ग्लोइंग और शाइनी, तो डाइट में शामिल करें ये आहार

मिला अपर मुख्य सचिव का जारी अनुमति पत्र

एसपी यशवन्त सिंह चौहान ने बताया कि एमएलए अमनमणि त्रिपाठी को चमोली जिले में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई. जिसका कारण अब तक बदरीनाथ का कपाट खुलना नहीं बताया जा रहा है. उन्होंने यह भी जानकारी दी कि इनके पास उत्तराखंड प्रदेश के अपर मुख्य सचिव की जारी अनुमति पत्र उपलब्ध है. बता दें कि अमनमणि त्रिपाठी महाराजगंज जिले की नौतनवा से विधायक हैं. वे अमरमणि त्रिपाठी के बेटे हैं.

नियमों के उल्लंघन का मामला आ रहा सामने

जानकारी मिल रही है कि तय मानकों को पास जारी करने के दौरान ताक पर रखा गया है. दरअसल, लॉकडाउन के दौरान ऑरेंज जोन से ग्रीन जोन में जाने को पास जारी करने के लिए सख्त मानक तय हैं. इसके बावजूद देहरादून जिला प्रशासन ने त्रिपाठी सहित अन्‍य लोगों को बदरीनाथ और केदारनाथ धाम जाने के लिए मंजूरी दी. इस दौरान गृह मंत्रालय के गाइडलाइन को भी ध्यान में नहीं रखा गया. बता दें कि गाइडलाइन के तहत एक साथ पांच से अधिक लोगों की आवाजाही प्रतिबंधित है.  

पढ़ें :- रोहित शर्मा की दमदार पारी ने टीम को दिलाई जीत

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...