योगी की ‘एनकाउंटर पुलिस’ बनी सौदागर, बोले- कप्तान के कहने पर किसी को भी टपका देंगे

up-police-yogi
योगी की 'एनकाउंटर पुलिस' बनी सौदागर, बोले- कप्तान के कहने पर किसी को भी टपका देंगे

लखनऊ। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आते ही संगठित अपराध पर नकेल कसने के लिए पुलिस ने ‘ऑपरेशन क्लीन’ शुरू किया। इस दौरान यूपी पुलिस ने 1500 से अधिक एनकाउंटर किए, जिसमें लगभग अपराधी 60 मारे गए। एक निजी चैनल के स्टिंग में यूपी पुलिस के एनकाउंटर का सच उजागर हुआ है, जिसमें कुछ खाकीधारी पैसों के बदले एनकाउंटर करने की बात करते नजर आए हैं। मामला आगरा जिले का है। डीजीपी ओपी सिंह ने मामले को संज्ञान में लेते हुए तीन पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करने के साथ जांच के आदेश दे दिये हैं।

स्टिंग में दिखया गया है कि आगरा के बसई जगनेर थाना प्रभारी जगदंबा सिंह एनकाउंटर करने के लिए खुलकर बात कर रहे हैं। उनका कहना है कि कप्तान के कहने पर सब कुछ होता है। वे कहें तो किसी को भी टपका दें। वहीं थाने के सब इंस्पेक्टर बलवीर सिंह बैरक में बैठकर फर्जी एनकाउंटर की बात कर रहे हैं। पहले तो वे शूटर को सुपारी देने की बात कहते हैं। इसके बाद खुद ही बदमाश को टपकाने का ठेका लेने लगते हैं। वहीं चित्रहाट थाने के सब इंस्पेक्टर सर्वेश कुमार भी फर्जी एनकाउंटर के लिए तैयार हो जाते हैं। वे तो बैंक डकैती, लूट और हत्या में फंसाने से का भी ठेका लेने की बात करते हैं।

{ यह भी पढ़ें:- सीएम योगी ने अधिकारियों को दिये निर्देश- बकरीद पर गोवंशी पशुओं की कुर्बानी रोकी जाये }

बसेई जगनेर थाना प्रभारी जगदंबा सिंह कैमरे पर बोलते हुए कहते हैं कि थाने का चार्ज पाने के लिए कोई कुछ भी कर सकता है। हत्या कर सकता है। पैसे दे सकता है। अपने पावर का गलत इस्तेमाल कर सकता है। यूपी पुलिस दुनिया की सबसे ताकतवर पुलिस है। जो चाहे कर सकती है। हम एनकाउंटर तक कर देते हैं। यूपी में पॉवर का दुरूपयोग आम बात है। एनकाउंटर में कौन हिस्सा लेगा, इसकी जानकारी हमारे एसपी को होती है।

वहीं मामला सामने आने के बाद आगरा के एसएसपी अमित पाठक ने कहा, “मैं मानता हूं कि पुलिस फोर्स में कोई भी अपने निहित स्वार्थ के लिए कार्य मानदंडों के विपरीत जाता है और झूठे मामलों में निर्दोष नागरिकों को फंसाता है तो उसके साथ सख्ती से पेश आना चाहिए।” विभागीय जांच एडिशनल एसपी को दे दी गयी है।

{ यह भी पढ़ें:- भाजपा विधायक इंस्पेक्टर से बोले- आरोपी को नहीं छोड़ा तो करा देंगे ट्रांसफर, ऑडियो वायरल }

लखनऊ। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आते ही संगठित अपराध पर नकेल कसने के लिए पुलिस ने 'ऑपरेशन क्लीन' शुरू किया। इस दौरान यूपी पुलिस ने 1500 से अधिक एनकाउंटर किए, जिसमें लगभग अपराधी 60 मारे गए। एक निजी चैनल के स्टिंग में यूपी पुलिस के एनकाउंटर का सच उजागर हुआ है, जिसमें कुछ खाकीधारी पैसों के बदले एनकाउंटर करने की बात करते नजर आए हैं। मामला आगरा जिले का है। डीजीपी ओपी सिंह ने…
Loading...