यूपी पुलिस की डॉयल 100 सेवा ठप्प, PRI लाइन में आई दिक्कत

UP Police Dial 100, डॉयल 100
यूपी पुलिस की डॉयल 100 सेवा ठप्प, PRI लाइन में आई दिक्कत
लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस की डॉयल 100 सेवा मंगलवार की शाम 7:26 बजे तकनीकि कारणों से ठप्प हो गई। जिस वजह से डॉयल 100 पर कॉल कर मदद मांगने वाले लोगों को खासा परेशानी का सामना करना पड़ा। जिसके बाद डॉयल 100 सेवा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंड यूपी 100 से ट्वीट कर जानकारी देते हुए जरूरतमंदों को बार बार 100 नंबर मिलाने और न मिलने की दशा में 1073 पर कॉल करने को कहा है। [embed]https://twitter.com/up100/status/978631857301524480?s=12[/embed] जैसा की आप सभी…

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस की डॉयल 100 सेवा मंगलवार की शाम 7:26 बजे तकनीकि कारणों से ठप्प हो गई। जिस वजह से डॉयल 100 पर कॉल कर मदद मांगने वाले लोगों को खासा परेशानी का सामना करना पड़ा। जिसके बाद डॉयल 100 सेवा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंड यूपी 100 से ट्वीट कर जानकारी देते हुए जरूरतमंदों को बार बार 100 नंबर मिलाने और न मिलने की दशा में 1073 पर कॉल करने को कहा है।

{ यह भी पढ़ें:- यूपी में नहीं थम रही दरिंदगी,अब अमेठी में गर्भवती महिला से गैंगरेप }

जैसा की आप सभी जानते हैं कि यूपी पुलिस की डॉयल 100 सेवा देश के सबसे बेहतर और हाईटेक पुलिस सेवा है। यूपी पुलिस का दावा है कि वह डॉयल 100 पर आने वाली शिकायतों के निवारण के लिए शहरी क्षेत्रों में 15 मिनट के भीतर रिस्पांड करती है, जबकि ग्रामीण इलाकों में यह सेवा 30 मिनट में पहुंचती है।

मिली जानकारी के मुताबिक डॉयल 100 सेवा में PRI (Primary Rate Interface) लाइन में आई तकनीकी खामी की वजह से लोगों को असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। जिसे शीध्र दुरुस्त कर लिया जाएगा।

क्या होती है PRI Line (Primary Rate Interface) —

पीआरआई यानी प्राइमरी रेट इंटरफेस यह एक विशेष प्रकार की टेलीफोनिक लाइन होती है। जिससे एक समय पर वॉयस, वीडियो और डेटा एक्ससे किया जा सकता है। तकनीकि जानकारों के मुताबिक एक पीआरआई लाइन पर एक समय में 30 ऐसी कॉल्स को अटेंड किया जा सकता है, जिनमें वॉयस कॉलिंग, वीडियों कनेक्टविटी और डेटा कनेक्टविटी को स्थापित किया जा सके।

{ यह भी पढ़ें:- उन्नाव गैंगरेप मामला : तो क्या माननीय को बचाने के लिए हो रहा ये ड्रामा }

डॉयल 100 में भी कुछ इसी प्रकार से पीसीआर वैन को पीआरआई लाइन की मदद से जोड़ा जाता है जिससे कि पीसीआर वैन की लाइव लोकेशन और शिकायत कर्ता को पहुंचाई गई मदद का स्टेटस अपडेट किया जाता है।

Loading...