पाक PM को यूपी पुलिस ने दिया करार जबाब, इमरान ने हटाये फर्जी वीडियो

imran khan
पाक PM को यूपी पुलिस ने दिया करार जबाब, इमरान ने हटाये फर्जी वीडियो

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने यूपी पुलिस द्वारा मुस्लिमों पर अत्याचार के कुछ फर्जी वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किये थे जिसके बाद यूपी पुलिस ने इमरान खान को करारा जबाब दिया है। वहीं पाक पीएम के ट्वीट की जब खिल्लियां उड़ाई गयीं तो उन्होने वो पोस्ट डिलीट कर दिया। आपको बता दें कि जो इमरान खान ने वीडियो पोस्ट किये थे वो 7 साल पुराने बांग्लादेश के वीडियो थे।

Up Police Gave A Reply To Pakistan Pm Imran Removed Fake Video :

आपको बता दें कि हाल ही में यूपी में नागरिकता कानून को ​लेकर प्रदर्शन हुए थे, उसी को जोड़ते हुए पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने उत्तर प्रदेश में मुस्लिम समुदाय के साथ पुलिस की कथित ज्यादती के नाम पर फर्जी वीडियो पोस्ट किए थे। उन्होने वीडियो के साथ लिखा था कि ‘मोदी सरकार के जातीय सफाए के तहत भारतीय पुलिस मुसलमानों पर हमला करते हुए’।

इसी का जबाब देते हुए यूपी पुलिस ने ट्वीट कर उनकी ‘गलतफहमी’ को दूर कर दिया। यूपी पुलिस ने साफ तौर पर कहा कि ​इस वीडियो का उत्तर प्रदेश से कोई लेना-देना नहीं है। यूपी पुलिस ने ट्वीट कर बताया कि वीडियो उत्तर प्रदेश का नहीं है। यह मई 2013 में बांग्लादेश के ढाका की घटना का है। वीडियो में इमरान ने पुलिस के जिन जवानों को उत्तर प्रदेश का बताया, उनकी वर्दी पर आरएबी लिखा हुआ है। आरएबी का फुलफार्म (रैपिड एक्शन बटैलियन) बांग्लादेश पुलिस की आतंकरोधी इकाई है।

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने यूपी पुलिस द्वारा मुस्लिमों पर अत्याचार के कुछ फर्जी वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किये थे जिसके बाद यूपी पुलिस ने इमरान खान को करारा जबाब दिया है। वहीं पाक पीएम के ट्वीट की जब खिल्लियां उड़ाई गयीं तो उन्होने वो पोस्ट डिलीट कर दिया। आपको बता दें कि जो इमरान खान ने वीडियो पोस्ट किये थे वो 7 साल पुराने बांग्लादेश के वीडियो थे। आपको बता दें कि हाल ही में यूपी में नागरिकता कानून को ​लेकर प्रदर्शन हुए थे, उसी को जोड़ते हुए पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने उत्तर प्रदेश में मुस्लिम समुदाय के साथ पुलिस की कथित ज्यादती के नाम पर फर्जी वीडियो पोस्ट किए थे। उन्होने वीडियो के साथ लिखा था कि 'मोदी सरकार के जातीय सफाए के तहत भारतीय पुलिस मुसलमानों पर हमला करते हुए'। इसी का जबाब देते हुए यूपी पुलिस ने ट्वीट कर उनकी 'गलतफहमी' को दूर कर दिया। यूपी पुलिस ने साफ तौर पर कहा कि ​इस वीडियो का उत्तर प्रदेश से कोई लेना-देना नहीं है। यूपी पुलिस ने ट्वीट कर बताया कि वीडियो उत्तर प्रदेश का नहीं है। यह मई 2013 में बांग्लादेश के ढाका की घटना का है। वीडियो में इमरान ने पुलिस के जिन जवानों को उत्तर प्रदेश का बताया, उनकी वर्दी पर आरएबी लिखा हुआ है। आरएबी का फुलफार्म (रैपिड एक्शन बटैलियन) बांग्लादेश पुलिस की आतंकरोधी इकाई है।