1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मेस में घटिया खाने का मुद्दा उठाने वाला सिपाही मनोज कुमार बोला- ‘अब मुझे पागल घोषित कर देंगे’

मेस में घटिया खाने का मुद्दा उठाने वाला सिपाही मनोज कुमार बोला- ‘अब मुझे पागल घोषित कर देंगे’

फिरोजाबाद की पुलिस लाइन में मेस में घटिया खाने का मुद्दा उठाने वाले सिपाही मनोज कुमार के मामले में एक नया ट्विस्ट आ गया है। सिपाही मनोज कुमार शर्मा ने आरोप लगाया है कि “मुझे आगरा ले जाकर मेडिकल कराना चाहते थे और फिर ये लोग मुझे पागल घोषित करना चाहते थे। मैं इसलिए पुलिस लाइन से घर चला आया।

By संतोष सिंह 
Updated Date

फिरोज़ाबाद । यूपी (UP) के फिरोजाबाद जिले (Firozabad District) की पुलिस लाइन (Police Line) में मेस में घटिया खाने का मुद्दा उठाने वाले सिपाही मनोज कुमार (Constable Manoj Kumar ) के मामले में एक नया ट्विस्ट आ गया है। सिपाही मनोज कुमार शर्मा (Constable Manoj Kumar Sharma) ने आरोप लगाया है कि  मुझे आगरा ले जाकर मेडिकल कराना चाहते थे और फिर ये लोग मुझे पागल घोषित करना चाहते थे। मैं इसलिए पुलिस लाइन (Police Line) से घर चला आया।

पढ़ें :- पॉलीटेक्निक संस्थानों में ‘हर घर तिरंगा’ कार्यक्रम का होगा आयोजन : मनोज कुमार

मनोज कुमार ( Manoj Kumar ) का यह भी कहना है कि हमने कोरोना काल में जनता की हमेशा सेवा की और अगर हमें खाना ही अच्छा नहीं मिलेगा तो हम कैसे काम कर पाएंगे। उसने मुख्यमंत्री से एक बार फिर गुजारिश की कि पुलिस बल को उचित और अच्छा भोजन मुहैय्या कराया जाए। फिरोजाबाद की पुलिस लाइन में मेस में घटिया खाने का मुद्दा उठाने वाले सिपाही मनोज कुमार (Constable Manoj Kumar )  के मामले में एक नया ट्विस्ट आ गया है। सिपाही मनोज कुमार शर्मा ने आरोप लगाया है कि मुझे आगरा ले जाकर मेडिकल कराना चाहते थे और फिर ये लोग मुझे पागल घोषित करना चाहते थे। मैं इसलिए पुलिस लाइन से घर चला आया।

मनोज कुमार ( Manoj Kumar ) का यह भी कहना है कि हमने कोरोना काल में जनता की हमेशा सेवा की और अगर हमें खाना ही अच्छा नहीं मिलेगा तो हम कैसे काम कर पाएंगे। उसने मुख्यमंत्री से एक बार फिर गुजारिश की कि पुलिस बल को उचित और अच्छा भोजन मुहैय्या कराया जाए।

आज सिपाही मनोज कुमार ( Constable  Manoj Kumar ) सीओ सिटी ऑफिस (CO City Office) में बयान देकर अपने घर चला गया है।  रास्ते में उसने मीडिया से बात की और यह आरोप लगाया कि मेडिकल टेस्ट के लिए उसे आगरा ले जाने की योजना है। जहां उसे पागल घोषित कर दिया जाएगा।  मनोज ने कहा कि मैंने सिर्फ खाने को लेकर आवाज उठाई थी। आज जब सिटी ऑफिस में मेरे बयान हुए तो वहां मुंशी ने मुझे उस की कॉपी तक नहीं दी।

सिपाही मनोज कुमार र ( Constable  Manoj Kumar ) ने बताया कि खराब खाने के मुद्दे को लेकर जो आवाज हमने उठाई थी उसी की सजा मुझे दी जा रही है। उसने आरोप लगाया कि मुझे जबरदस्ती खींचा गया। मेरी वर्दी पकड़कर खींची गई। मुझे कुछ जगहों पर चोट भी आई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...