यूपी: मॉस्क के बिना रोडवेज बसों में नहीं कर सकेंगे सफर, परिवहन विभाग ने की ये तैयारी

bus
यूपी: मॉस्क के बिना रोडवेज बसों में नहीं कर सकेंगे सफर, परिवहन विभाग ने की ये तैयारी

लखनऊ। लॉकडाउन खुलने के बाद बस अड्डों से बसों के कमर्शियल संचालन की तैयारियां परिवहन निगम प्रशासन ने शुरू कर दी हैं। बसों के सैनिटाइजेशन के साथ ही यात्रियों के लिए गाइड लाइन के हिसाब से सफर को सुरक्षित करने का काम शुरू कर दिया गया है। बसों में बिना मॉस्क प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। यात्री को थर्मल स्क्रीनिंग से गुजर कर ही बसों में सवार होना होगा। बसों में भी सैनिटाइजर से हाथ धुलवाने के बाद ही यात्री को सीट मिलेगी।

Up Roadways Will Not Be Able To Travel Without Buses In Moscow Transport Department Prepares This :

बस स्टेशनों पर यात्रियों को प्रवेश करते ही हाथों काे साफ करने के लिए सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई है। बाकायदा हाथ धुलवाने के बाद थर्मल स्क्रीनिंग की जांच होगी और उसके बाद यात्री अपने सफर वाली बस में प्रवेश करेगा। बस में परिचालक सैनिटाइजर उपलब्ध कराएगा और बिना मॉस्क के बस में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। वहीं एसी बसों में ऑटोमेटिक सेंसर प्रणाली युक्त सैनिटाइजर मशीन लगायी जाएगी। जो बसों में प्रवेश करते ही यात्री को चंद पालों सैनिटाइज कर देगी।

परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक डॉ. राजशेखर ने कहा, यात्रियों के सुरक्षित सफर के लिए रोडवेज के प्रयास जारी हैं। हालांकि बसों का संचालन अभी श्रमिकों को गंतव्य तक पहुंचाने में किया जा रहा है। पूरा बेड़ा इसमें लगा हुआ है। लॉकडाउन खुलने के बाद बस अड्डों से कमर्शियल संचालन शुरू होगा। इसकी तैयारियां पूरी हैं।

लखनऊ। लॉकडाउन खुलने के बाद बस अड्डों से बसों के कमर्शियल संचालन की तैयारियां परिवहन निगम प्रशासन ने शुरू कर दी हैं। बसों के सैनिटाइजेशन के साथ ही यात्रियों के लिए गाइड लाइन के हिसाब से सफर को सुरक्षित करने का काम शुरू कर दिया गया है। बसों में बिना मॉस्क प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। यात्री को थर्मल स्क्रीनिंग से गुजर कर ही बसों में सवार होना होगा। बसों में भी सैनिटाइजर से हाथ धुलवाने के बाद ही यात्री को सीट मिलेगी। बस स्टेशनों पर यात्रियों को प्रवेश करते ही हाथों काे साफ करने के लिए सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई है। बाकायदा हाथ धुलवाने के बाद थर्मल स्क्रीनिंग की जांच होगी और उसके बाद यात्री अपने सफर वाली बस में प्रवेश करेगा। बस में परिचालक सैनिटाइजर उपलब्ध कराएगा और बिना मॉस्क के बस में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। वहीं एसी बसों में ऑटोमेटिक सेंसर प्रणाली युक्त सैनिटाइजर मशीन लगायी जाएगी। जो बसों में प्रवेश करते ही यात्री को चंद पालों सैनिटाइज कर देगी। परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक डॉ. राजशेखर ने कहा, यात्रियों के सुरक्षित सफर के लिए रोडवेज के प्रयास जारी हैं। हालांकि बसों का संचालन अभी श्रमिकों को गंतव्य तक पहुंचाने में किया जा रहा है। पूरा बेड़ा इसमें लगा हुआ है। लॉकडाउन खुलने के बाद बस अड्डों से कमर्शियल संचालन शुरू होगा। इसकी तैयारियां पूरी हैं।