यूपी का वह मंदिर जहां योगी के सिवा किसी भी नेता को नहीं मिलती एंट्री

कानपुर। यूपी के कानपुर में एक ऐसा शनि मंदिर है जिसमे नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, मायावती, अखिलेश समेत सभी दिग्गज नेताओं की एंट्री पर बैन है। इतना ही नहीं इस मंदिर में कई अफसरों और जजों के भी फोटो लगाए गए है जिनका भी प्रवेश वर्जित है। जी हाँ, इस मंदिर की मान्यता है कि वे लोग यहां एंट्री नहीं पा सकते जो आंशिक रूप से भी भ्रष्ट सिस्टम का हिस्सा है। गौर करने वाली बात ये है कि इस मंदिर में सीएम योगी आदित्यनाथ की इंट्री पर कोई बैन नहीं है।



भ्रष्ट सिस्टम से जुड़े लोगो की इंट्री पर रोक
दरअसल ये मामला कानपुर का है। जहां कानपुर यूनिवर्सिटी के पीछे स्थित भ्रष्ट तंत्र विनाशक शनि मंदिर है। इस मंदिर का निर्माण कराने वाले सामाजिक कार्यकर्ता रॉबी शर्मा का कहना है कि ”देश में बढ़ते भ्रष्टाचार से ऊबकर मैंने साल 2012 में इस मंदिर का निर्माण कराया। इसका उद्घाटन दिव्यांग पवन राणे बाल्मीकि से कराया था।” उन्होने आगे बताया कि मंदिर में शनि देव की तीन मूर्तियों के साथ ब्रह्मा की मूर्ति ऐसे रखी गयी है, जिससे लगता है कि ब्रह्मा सीधे शनि देव को देख रहे हों।”



{ यह भी पढ़ें:- कानपुर: 24 घंटे में लगातार तीसरी हत्या, पत्रकार को सरेराह मारी गोली, मौत }

रॉबी शर्मा का कहना है कि कि लोग भ्रष्ट अधिकारियों, नेताओं-मंत्रियों और जजों को भगवान ना मानकर उनका बहिष्कार करे। इसीलिए इस मंदिर में भ्रष्टाचारियों की एंट्री पर रोक है। लोगो को इनके नाम और शक्ल याद रहे इसीलिए मंदिर में बकायदा उनकी फोटो भी लगवाई गयी है।




ये है वो नेता जिनके प्रवेश पर है रोक

मंदिर में यूपी के करीब 8 अधिकारियों और देश के 55 प्रमुख नेताओं के फोटो लगे हैं। जिसमे पीएम नरेंद्र मोदी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के साथ कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पी चिदंबरम, शीला दीक्षित, नितिन गडकरी, और लाल कृष्ण आडवाणी जैसे दिगज्जों को भ्रष्ट नेताओं में शामिल किया गया है। इतना ही नहीं इन सब में बसपा सुप्रीमो मायावती, पूर्व सीएम अखिलेश यादव, और सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव की भी फोटो शामिल है। ऐसे कई भ्रष्ट बड़े नेताओं का यहाँ फोटो लगी हुयी है।

{ यह भी पढ़ें:- राम मंदिर को लेकर शिवपाल सिंह यादव का बड़ा बयान, राजीव गांधी को बताया 'हिन्दू' }

Loading...