1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Saharanpur : देवबंद मदरसे में एटीएस की बड़ी कार्रवाई, एक संदिग्ध को हिरासत में लिया

Saharanpur : देवबंद मदरसे में एटीएस की बड़ी कार्रवाई, एक संदिग्ध को हिरासत में लिया

आतंकवाद निरोधक दस्ता (ATS) ने गुरुवार देर रात्रि देवबंद मदरसे (Deoband madrasa) में बड़ी कार्रवाई करते हुए एक बांग्लादेशी युवक (Bangladeshi youth) को हिरासत में लिया है। बताया गया है कि युवक फर्जी आईडी (Fake ID) के आधार पर देवबंद के नामी शिक्षण संस्थान दारुल उलूम (Darul Uloom) में इस्लामिक शिक्षा ग्रहण कर रहा था। उसके साथ एक अन्य युवक को भी पकड़ा गया, जिसे पूछताछ करने के बाद छोड़ दिया गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

सहारनपुर। आतंकवाद निरोधक दस्ता (ATS) ने गुरुवार देर रात्रि देवबंद मदरसे (Deoband madrasa) में बड़ी कार्रवाई करते हुए एक बांग्लादेशी युवक (Bangladeshi youth) को हिरासत में लिया है। बताया गया है कि युवक फर्जी आईडी (Fake ID) के आधार पर देवबंद के नामी शिक्षण संस्थान दारुल उलूम (Darul Uloom) में इस्लामिक शिक्षा ग्रहण कर रहा था। उसके साथ एक अन्य युवक को भी पकड़ा गया, जिसे पूछताछ करने के बाद छोड़ दिया गया है।

पढ़ें :- Saharanpur : स्वतंत्रता दिवस से पहले यूपी एटीएस का बड़ा एक्शन, एक संदिग्ध को उठाया

हिरासत में आए युवक के पास से बांग्लादेशी करेंसी के अलावा कई पुस्तकें व अन्य दस्तावेज बरामद हुए हैं। सूत्र बताते हैं कि शुरुआती जांच में एटीएस (ATS) को बांग्लादेशी नागरिक की गतिविधियां संदिग्ध मिलीं हैं। पड़ोसी मुल्क से भी उसके तार जुड़े होने की आशंका जताई जा रही है।

गुरुवार की रात्रि करीब 1:30 बजे एटीएस नामी शिक्षण संस्थान दारुल उलूम (Darul Uloom)  में पहुंची, जहां एटीएस (ATS)   अधिकारियों ने प्रबंधतंत्र को विश्वास में लेकर संस्था परिसर में बने छात्रावास के कमरा नंबर 61 से दो छात्रों को हिरासत में ले लिया।

असम के छात्र को छोड़ा

पूछताछ करने और सभी दस्तावेज देखने के बाद एटीएस (ATS)  ने एक छात्र को असम राज्य का होने के चलते छोड़ दिया, जबकि दूसरा छात्र कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे सका। इसके चलते उस पर शक गहरा गया। सूत्र बताते हैं कि कमरे के बाहर रखी छात्र की एक अलमारी को खुलवा कर उसकी तलाश ली गई तो उसके अंदर से बांग्लादेशी करेंसी, वहीं की कुछ आईडी, पुस्तकें और अन्य दस्तावेज बरामद हुए हैं।

पढ़ें :- Gujarat ATS's Big Success : हथियारों के जखीरे के साथ 15 गिरफ्तार, एक दिन पहले पकड़ी थी 27 लाख की चरस

2015 से देवबंद में रह रहा था बांग्लादेशी छात्र

एटीएस (ATS) सूत्र बताते हैं कि यह छात्र बांग्लादेशी नागरिक है जो पहचान छिपाकर फर्जी दस्तावेजों (fake documents) के आधार पर वर्ष 2015 से देवबंद (Deoband ) में रह रहा था। वहीं, ये जानकारी भी मिली है कि एटीएस (ATS) को उसके पास से जो मोबाइल मिला है, उसमें बहुत कुछ ऐसा मिला है जो उक्त छात्र के पड़ोसी मुल्क में उसकी संदिग्ध गतिविधियों को उजागर कर रहा है।

हालांकि, अभी एटीएस (ATS)  की ओर से कार्रवाई को लेकर कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। उधर, ये भी बताया जा रहा है कि एटीएस ने दोनो युवकों को मुजफ्फरनगर से दिन के समय हिरासत में लिया था। बांग्लादेशी नागरिक अपने साथी के साथ किसी चिकित्सक के यहां दवा लेने गया था। रात्रि में एटीएस (ATS)  उसके कमरे की तलाशी लेने आई थी, जहां से कुछ आपत्तिजनक चीजें बरामद हुईं। इसके चलते टीम एक छात्र को अपने साथ ले गई।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...