आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे हादसा: थर्ड पार्टी एजेंसी करेगी जांच, 15 दिन में देनी होगी रिपोर्ट

agra-lucknow-express-way
आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे हादसा: थर्ड पार्टी एजेंसी करेगी जांच, 15 दिन में देनी होगी रिपोर्ट

Upeida Orders Probe In Agra Lucknow Expressway Service Lane Caves In Case

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सबसे चर्चित प्रोजेक्ट आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे की साइड लेन धंसने से इस पूरे प्रोजेक्ट पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। बताते चलें कि तत्कालीन अखिलेश सरकार ने जिस आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे प्रोजेक्ट को अपने विकास कार्यों के मॉडल के रूप में पेश किया था उसी एक्सप्रेस वे पर बुधवार सुबह आगरा के डौकी इलाके में कन्नौज जा रहे कार सवार चार लोग सर्विस रोड पर 50 फीट गहरे गड्ढे में जा गिरे। कार में सवार चारों लोग किसी तरह से बाहर निकले।

मामला तूल पकड़ने पर थर्ड पार्टी एजेंसी से जांच के आदेश दिए गए। यूपी एक्सप्रेसवेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) ने थर्ड पार्टी एजेंसी राइट्स लिमिटेड को जांच के लिए 15 दिन का समय दिया है। यूपीडा के मुताबिक, अधिक वर्षा होने के कारण आगरा से 16.3 किलोमीटर पर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे की साइड रोड को इकट्ठे पानी ने 15 से 20 काट दिया है। इसकी मरम्मत का कार्य एजेंसी को ही अपने खर्च पर करना है।

upda
जारी लेटर

बता दें कि समाजवादी सरकार में इस एक्सप्रेसवे को 23 महीने के रेकॉर्ड समय में बनाया गया था। इसे बनाने में करीब 15 हजार करोड़ रुपये की लगात आयी। एक्सप्रेसवे का उद्घाटन पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने नवंबर 2016 को किया था। यह एक्सप्रेसवे 302 किलोमीटर लंबा है। उद्घाटन के बाद यहां कई बार लड़ाकू विमानों को भी उतारा गया।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सबसे चर्चित प्रोजेक्ट आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे की साइड लेन धंसने से इस पूरे प्रोजेक्ट पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। बताते चलें कि तत्कालीन अखिलेश सरकार ने जिस आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे प्रोजेक्ट को अपने विकास कार्यों के मॉडल के रूप में पेश किया था उसी एक्सप्रेस वे पर बुधवार सुबह आगरा के डौकी इलाके में कन्नौज जा रहे कार सवार चार लोग सर्विस रोड पर 50 फीट गहरे गड्ढे में जा गिरे। कार में सवार…