बिहार NDA में फिर दिखी दरार, उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश से पूछी उनकी ‘DNA’ रिपोर्ट

बिहार NDA में फिर दिखी दरार, उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश से पूछी उनकी 'DNA' रिपोर्ट
बिहार NDA में फिर दिखी दरार, उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश से पूछी उनकी 'DNA' रिपोर्ट

पटना। उपेंद्र कुशवाहा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को NDA में भाजपा के साथ सीटों के मुद्दे पर बराबरी के समझौते के बाद से ही नाराज़ चल रहे हैं।लेकिन इन सबके बीच नीतीश कुमार के एक बयान ने आग में घी डालने का काम किया है। नीतीश कुमार से कुशवाहा के एक बयान पर टिप्पणी मांगी गई थी। तब उन्होंने यह कहकर एंकर को चुप करा दिया था कि कार्यक्रम के स्तर को इतना नीचे मत ले जाइये इसके साथ ही कुशवाह ने कहा कि मुझे नीच कहने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपना डीएनए बताएं।

Upendra Kushwaha Nitish Kumar Dna Report Bjp Nda Pm Modi Jdu :

दरअसल नीतीश कुमार की एनडीए में वापसी के बाद से ही उपेंद्र कुशवाहा खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे हैं। अब जबकि ये तय हो चुका है कि नीतीश कुमार की वापसी के बाद लोकसभा सभा चुनाव में एनडीए के सभी घटक दलों को अपनी सीटों पर समझौता करना पड़ेगा, कुशवाह इसे हजम नहीं कर पा रहे हैं।

उपेंद्र कुशवाह ने कहा, ”आपने मुझे नीच कहा लेकिन जरा उस डीएनए की रिपोर्ट भी सार्वजनिक करिये लोकसभा चुनाव के बाद एक सभा हुई थी। जिसमें पीएम भी आये थे, उसमें मोदी जी ने किसी दूसरे संदर्भ में डीएनए की बात की थी लेकिन नीतीश कुमार ने उसे गलत संदर्भ में लिया था, अपने पार्टी के लोगों से कहा कि बाल और नाखून कटवाकर दिल्ली भिजवाया था। आज तक उस टेस्ट की रिपोर्ट नहीं आई, हम जानना चाहते हैं।”

सीटों के बंटवारे पर भी अपनी नाराज़गी व्यक्त करते हुए उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि ये सम्माजनक होना चाहिए और जब हमारी ताकत बढ़ी हैं तो सीटों की संख्या में इजाफा होना चाहिए। इस वाकयुद्ध के बाद लगता हैं कि कुशवाहा की एनडीए में उलटी गिनती शुरू हो गई है, क्योंकि भाजपा को आने वाले समय में इतने तीखे हमले के बाद दोनों में से या तो एक को चुनना होगा, या हमेशा संतुलन बनाने की कोशिश करनी होगी।

पटना। उपेंद्र कुशवाहा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को NDA में भाजपा के साथ सीटों के मुद्दे पर बराबरी के समझौते के बाद से ही नाराज़ चल रहे हैं।लेकिन इन सबके बीच नीतीश कुमार के एक बयान ने आग में घी डालने का काम किया है। नीतीश कुमार से कुशवाहा के एक बयान पर टिप्पणी मांगी गई थी। तब उन्होंने यह कहकर एंकर को चुप करा दिया था कि कार्यक्रम के स्तर को इतना नीचे मत ले जाइये इसके साथ ही कुशवाह ने कहा कि मुझे नीच कहने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपना डीएनए बताएं। दरअसल नीतीश कुमार की एनडीए में वापसी के बाद से ही उपेंद्र कुशवाहा खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे हैं। अब जबकि ये तय हो चुका है कि नीतीश कुमार की वापसी के बाद लोकसभा सभा चुनाव में एनडीए के सभी घटक दलों को अपनी सीटों पर समझौता करना पड़ेगा, कुशवाह इसे हजम नहीं कर पा रहे हैं। उपेंद्र कुशवाह ने कहा, ''आपने मुझे नीच कहा लेकिन जरा उस डीएनए की रिपोर्ट भी सार्वजनिक करिये लोकसभा चुनाव के बाद एक सभा हुई थी। जिसमें पीएम भी आये थे, उसमें मोदी जी ने किसी दूसरे संदर्भ में डीएनए की बात की थी लेकिन नीतीश कुमार ने उसे गलत संदर्भ में लिया था, अपने पार्टी के लोगों से कहा कि बाल और नाखून कटवाकर दिल्ली भिजवाया था। आज तक उस टेस्ट की रिपोर्ट नहीं आई, हम जानना चाहते हैं।'' सीटों के बंटवारे पर भी अपनी नाराज़गी व्यक्त करते हुए उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि ये सम्माजनक होना चाहिए और जब हमारी ताकत बढ़ी हैं तो सीटों की संख्या में इजाफा होना चाहिए। इस वाकयुद्ध के बाद लगता हैं कि कुशवाहा की एनडीए में उलटी गिनती शुरू हो गई है, क्योंकि भाजपा को आने वाले समय में इतने तीखे हमले के बाद दोनों में से या तो एक को चुनना होगा, या हमेशा संतुलन बनाने की कोशिश करनी होगी।