अगर रिजल्ट लूट की घटना हो तो महागठबंधन के नेता उठा लें हथियार : उपेन्द्र कुशवाहा

upendra kushwaha
अगर रिजल्ट लूट की घटना हो तो महागठबंधन के नेता उठा लें हथियार : उपेन्द्र कुशवाहा

नई दिल्ली। लोकसभा चुनावों के बाद आए एग्जिट को देखकर महागठबंधन के दलों के नेताओं की बैचेनी बढ़ गई है। इसकी बानगी मंगलवार को तब देखने को मिली जब महागठबंधन की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने लोगों से हिंसक अपील कर डाली। अपनी बात रखते हुए उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि ‘पहले बूथ लूट और अब रिजल्ट लूट’ की तैयारी चल रही है। आगे उन्होने कहा कि अगर रिजल्ट लूट की घटना हुई तो महागठबंधन के नेताओं से आग्रह है कि हथियार भी उठाना हो तो उठा लें।

Upendra Kushwahas Violent Appeal To Grandallince Leaders Says To Take Weapons :

कुशवाहा का गुस्सा कुशवाहा यहीं शांत नहीं हुआ। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि जनता का आक्रोश बहुत बहुत ही खतरनाक होता है। सड़क पर खून तक बह सकता है। उन्होने कहा कि ऐसी किसी भी स्थिती से निपटने के लिए जिला प्रशासन सतर्क रहे। वहीं उन्होने कहा कि अगर होता है कि इसकी पूरी जिम्मेदारी एनडीए के शीर्ष नेताओं की होगी।

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा, ‘हम लोगों से अपील करेंगे कि वे धैर्य और संयम रखें, क्योंकि एग्जिट पोल प्लांटेड है। उन्होने कहा कि जनता पूरी तरह समझ चुकी है कि सत्ता के लिए बहुत बड़ा षडयंत्र रचा जा रहा है। जो भी एग्जिट पोल सामने आए हैं उनमें बिल्कुल भी सच्चाई नहीं हैं। हम एग्जिट पोल को सिरे से नकारते हैं।’

वहीं इस बैठक में मौजूद आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा कि लोग इस मुगालते में हैं कि किसी भी तरह से सत्ता पर काबिज हुआ जाए। एग्जिट पोल के जरिये देश में भ्रम फैलाया जा रहा है। मनोवैज्ञानिक तौर पर असर डालने की कोशिश हो रही है।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनावों के बाद आए एग्जिट को देखकर महागठबंधन के दलों के नेताओं की बैचेनी बढ़ गई है। इसकी बानगी मंगलवार को तब देखने को मिली जब महागठबंधन की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने लोगों से हिंसक अपील कर डाली। अपनी बात रखते हुए उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि 'पहले बूथ लूट और अब रिजल्ट लूट' की तैयारी चल रही है। आगे उन्होने कहा कि अगर रिजल्ट लूट की घटना हुई तो महागठबंधन के नेताओं से आग्रह है कि हथियार भी उठाना हो तो उठा लें। कुशवाहा का गुस्सा कुशवाहा यहीं शांत नहीं हुआ। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि जनता का आक्रोश बहुत बहुत ही खतरनाक होता है। सड़क पर खून तक बह सकता है। उन्होने कहा कि ऐसी किसी भी स्थिती से निपटने के लिए जिला प्रशासन सतर्क रहे। वहीं उन्होने कहा कि अगर होता है कि इसकी पूरी जिम्मेदारी एनडीए के शीर्ष नेताओं की होगी। उपेंद्र कुशवाहा ने कहा, 'हम लोगों से अपील करेंगे कि वे धैर्य और संयम रखें, क्योंकि एग्जिट पोल प्लांटेड है। उन्होने कहा कि जनता पूरी तरह समझ चुकी है कि सत्ता के लिए बहुत बड़ा षडयंत्र रचा जा रहा है। जो भी एग्जिट पोल सामने आए हैं उनमें बिल्कुल भी सच्चाई नहीं हैं। हम एग्जिट पोल को सिरे से नकारते हैं।' वहीं इस बैठक में मौजूद आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा कि लोग इस मुगालते में हैं कि किसी भी तरह से सत्ता पर काबिज हुआ जाए। एग्जिट पोल के जरिये देश में भ्रम फैलाया जा रहा है। मनोवैज्ञानिक तौर पर असर डालने की कोशिश हो रही है।