1. हिन्दी समाचार
  2. UPPCL में पीएफ घोटाला: ब्रोकरेज कंपनी के दो अधिकारियों पर शिकंजा, कई अन्य पर लटकी तलवार

UPPCL में पीएफ घोटाला: ब्रोकरेज कंपनी के दो अधिकारियों पर शिकंजा, कई अन्य पर लटकी तलवार

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। यूपीपीसीएल में हुए पीएफ घोटाले की जांच कर रही ईओडब्ल्यू ने ब्रोकरेज कंपनी के अधिकारियों पर शिकंजा कसा है। ईओडब्ल्यू की जांच में सामने आया कि ब्रोकरेज कंपनी एसएमसी के डिप्टी डायरेक्टर व एक अन्य की भूमिका इस घोटाले में सामने आयी। इसके बाद ईओडब्ल्यू ने दोनों को गिरफ्तार किया है।

पढ़ें :- ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए प्रदेश में 10 नए ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना की जाएगी : सीएम योगी

सूत्रों ने बताया कि पीएफ घोटाले की जांच कर रही ईओडब्ल्यू को एसएमसी कंपनी के डिप्टी डायरेक्टर आलोक गग और महेश गुप्ता की भूमिका उजागर हुई। इसके बाद ईओडब्ल्यू ने इनसे कई बार पूछताछ की। पूछताछ में इनकी भूमिका पर ईओडब्ल्यू को संदेह हुआ, जिसके कारण डीएचएफएल में निवेश से संबंधित कुछ दस्तावेज भी मांगे थे।

सूत्रों का कहना है कि डीएचएफएल में किए गए निवेश में एसएमसी को पाक साफ माना जा रहा था, लेकिन अब इस की भूमिका भी सवालों के घेरे में आने के बाद कंपनी के दो अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया गया। बता दें कि, पीएफ घोटाले में अभी तक 16 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है।

इसमें इसमें यूपीपीसीएल के पूर्व एमडी एपी मिश्रा, वित्त निदेशक सुधांशु द्विवेदी, ट्रस्ट के सचिव पीके गुप्ता, पीके गुप्ता का बेटा अभिनव गुप्ता व उसका साथी आशीष चौधरी समेत अन्य लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इसमें तीन अलग अलग कंपनी के सीए भी शामिल हैं। वहीं, ईओडब्ल्यू ने अभी तक यूपीपीसीएल के तत्कालीन चेयरमैन व प्रमुख सचिव उर्जा संजय अग्रवाल और हाल में हटाए गए उर्जा विभाग के प्रमुख सचिव आलोक कुमार से भी पूछताछ कर चुकी है।

पढ़ें :- यामाहा ने पेश की अपनी फ्लैगशिप माउंटेन ई-बाइक, जानें खूबियां

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...