नागरिकता संशोधन बिल को लेकर बंगाल में बवाल, बसों को प्रदर्शनकारियों ने फूंका, ट्रेनों में भी लगाई आग

west bangal
नागरिकता संशोधन बिल को लेकर बंगाल में बवाल, 25 बसों को प्रदर्शनकारियों ने फूंका, ट्रेनों में भी लगाई आग

कोलकाता। नागरिकता संशोधन बिल को लेकर बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। पश्चिम बंगाल में इस बिल को लेकर जमकर विरोध हो रहा है। इस दौरान कई जिलों में हिंसक झड़प और आगजनी की घटनाएं भी समाने आयीं हैं। बिल का विरोध कर रहे लोग अब बसों और ट्रेनों को निशाना बनाने लगे हैं। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों ने करीब दो दर्जनों बसों में आग लगा दी, वहीं तीन रेलवे स्टेशन, पांच ट्रेनें और 20 दुकानों को भी आग के हवाले कर दिए।

Uproar In Bengal Over The Citizenship Amendment Bill Protesters Burnt 25 Buses Also Set Fire To Trains :

इस वजह से 28 एक्सप्रेस समेत 78 ट्रेनें रद्द करनी पड़ीं। उधर, असम समेत पूर्वोत्तर में फंसे लोगों को निकालने के लिए रेलवे ने गुवाहाटी से विशेष ट्रेनें चलाई हैं। पश्चिम बंगाल के चार जिलों में तनाव की स्थिति बनी हुई है। मुर्शिदाबाद, हावड़ा, मालदा और उत्तर 24 परगना जिले हिंसा के केंद्र में हैं। शनिवार प्रदर्शनकारियों ने करीब दो दर्जनों बसों और पांच ट्रेनों में आग लगा दी।

हिंसा के दौरान पुलिस की गाड़ियों और फायर ब्रिगेड को निशाना बनाने के साथ ही आधा दर्जन रेलवे स्टेशनों में तोड़फोड़ की गई। कई जगह प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच आमने-सामने भिड़ंत हो गई। मुर्शिदाबाद के जंगीपुर में बच्चों को ढाल बनाकर पुलिस पर हमला करने की जानकारी सामने आई है। वहीं, पश्चिम बंगाल में बढ़ते हिंसा को लेकर वहां की सीएम ममता बनर्जी ने सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है।

उन्होंने शांति की अपील की है। सीएम ऑफिस से जारी बयान में कहा गया है, ‘कानून अपने हाथ में मत लें। रोड ब्लॉक करके या ट्रेन रोककर सड़कों पर निकले आम लोगों के लिए परेशानी न खड़ी करें। सरकारी संपत्ति को नुकसान न पहुंचाएं। जो भी गड़बड़ी फैलाते हुए पाया जाएगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।’

कोलकाता। नागरिकता संशोधन बिल को लेकर बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। पश्चिम बंगाल में इस बिल को लेकर जमकर विरोध हो रहा है। इस दौरान कई जिलों में हिंसक झड़प और आगजनी की घटनाएं भी समाने आयीं हैं। बिल का विरोध कर रहे लोग अब बसों और ट्रेनों को निशाना बनाने लगे हैं। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों ने करीब दो दर्जनों बसों में आग लगा दी, वहीं तीन रेलवे स्टेशन, पांच ट्रेनें और 20 दुकानों को भी आग के हवाले कर दिए। इस वजह से 28 एक्सप्रेस समेत 78 ट्रेनें रद्द करनी पड़ीं। उधर, असम समेत पूर्वोत्तर में फंसे लोगों को निकालने के लिए रेलवे ने गुवाहाटी से विशेष ट्रेनें चलाई हैं। पश्चिम बंगाल के चार जिलों में तनाव की स्थिति बनी हुई है। मुर्शिदाबाद, हावड़ा, मालदा और उत्तर 24 परगना जिले हिंसा के केंद्र में हैं। शनिवार प्रदर्शनकारियों ने करीब दो दर्जनों बसों और पांच ट्रेनों में आग लगा दी। हिंसा के दौरान पुलिस की गाड़ियों और फायर ब्रिगेड को निशाना बनाने के साथ ही आधा दर्जन रेलवे स्टेशनों में तोड़फोड़ की गई। कई जगह प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच आमने-सामने भिड़ंत हो गई। मुर्शिदाबाद के जंगीपुर में बच्चों को ढाल बनाकर पुलिस पर हमला करने की जानकारी सामने आई है। वहीं, पश्चिम बंगाल में बढ़ते हिंसा को लेकर वहां की सीएम ममता बनर्जी ने सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है। उन्होंने शांति की अपील की है। सीएम ऑफिस से जारी बयान में कहा गया है, 'कानून अपने हाथ में मत लें। रोड ब्लॉक करके या ट्रेन रोककर सड़कों पर निकले आम लोगों के लिए परेशानी न खड़ी करें। सरकारी संपत्ति को नुकसान न पहुंचाएं। जो भी गड़बड़ी फैलाते हुए पाया जाएगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।'