UPSCIDCO में फर्जी बैंक गारंटी का खेल, मामले को दबाने में जुटे जिम्मेदार अधिकारी

UPSCIDCO में फर्जी बैंक गारंटी का खेल
UPSCIDCO में फर्जी बैंक गारंटी का खेल, मामले को दबाने जुटे में जिम्मेदार अधिकारी

Upscidco Contractor Uses Fake Bank Guarantee

लखनऊ। यूपी सरकार की निर्माण इकाईयों में फर्जी बैंक गारंटियों और फर्जी एफडीआर का खेल कई मामले सामने आने के बाद भी बदस्तूर जारी है। एक ओर जहां देशभर में बैंक से जुड़े फ्राड सामने आने से हड़कंप मचा हुआ है वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश की निर्माण इकाइयां बैंक गारंटियों की विश्व​सनीयता को परखने में चूक कर रहीं हैं। ऐसे ही विभाग में बैठे अधिकारी स्वयं इस बात को स्वीकार करने में कोई गुरेज नहीं समझते कि फर्जी बैंक गारंटियों पर कई फर्में ठेकेदारी कर रहीं हैं।

ऐसा ही एक मामला यूपी स्टेट कंस्ट्रक्शन एंड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कार्पोरेशन लिमिटेड (यूपीसिडको) में सामने आया है। फर्जी बैंक गारंटी सामने आने के बाद विभाग के शीर्ष अधिकारियों ने एतिहातन फर्जीवाडा करने वाली ठेकेदार कंपनी के भुगतानों पर रोक लगा दी है।

खबर ये है कि फर्जीवाडा करने वाले ठेकेदार की अलग अलग कंपनियों को यूपीसिडको में बड़े स्तर पर ठेेके मिले हुए हैं और विभाग के कुछ अधिकारियों ने ठेकेदार पर अपना वरदहस्त बना रखा है। इन्हीं अधिकारियों की सह पर ही ठेकेदार ने फर्जीवाडा किया है।

इस खबर के संबन्ध में जब पर्दाफाश ने यूपीसिडको के एक अधिकारी से बात की तो उन्होंने बताया कि ठेकेदार की विभाग में मजबूत पैठ है। जिस वजह से इस मामले को दबाया जा रहा है। जैसे ही फर्जी बैंक गारंटी जमा करवाने की शिकायत मिली, वैसे ही विभाग की ओर से आरबीआई से बैंक गारंटियों की विश्वसनीयता के संबन्ध में जानकारी मांगी गई। जिसमें सामने आया कि बैंक गारंटियां किसी बैंक से नहीं बल्कि एक वित्त सेवा प्रदात्ता निजी कंपनी से जारी हैं। जिन्हें नियमानुसार स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए था। विभाग के शीर्ष अधिकारियों ने बैंक गारंटी स्वीकार करने वाले अधिकारियों के कानूनी फंसने का हवाला देकर ठेकेदार को नई बैंक गारंटियां जमा करवाने की युक्ति निकाली है। तब तक के लिए ठेकेदार फर्म का भुगतान रोक दिया गया है।

आपको बता दें कि यह मामला धोखाधड़ी का है जिसमें फर्जी बैंक गारंटी लगाने वाली कंपनी और बैंक गारंटी स्वीकार करने वाले विभागीय अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए। इस विषय पर एमडी यूपीसिडको मनोज सिंह से संपर्क करने की बात करने का प्रयास किया गया जोकि संभव नहीं हो पाया। जल्द ही हम इस पूरे मामले का खुलासा करेंगे।

लखनऊ। यूपी सरकार की निर्माण इकाईयों में फर्जी बैंक गारंटियों और फर्जी एफडीआर का खेल कई मामले सामने आने के बाद भी बदस्तूर जारी है। एक ओर जहां देशभर में बैंक से जुड़े फ्राड सामने आने से हड़कंप मचा हुआ है वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश की निर्माण इकाइयां बैंक गारंटियों की विश्व​सनीयता को परखने में चूक कर रहीं हैं। ऐसे ही विभाग में बैठे अधिकारी स्वयं इस बात को स्वीकार करने में कोई गुरेज नहीं समझते कि फर्जी बैंक…