खबर का असर: परिवहन निगम ने फोरमैन को किया निलंबित

UP-bus
परिवहन मंत्री के दावों की खुली पोल, बस के अंदर छाता लगाने को मजबूर हुए यात्री

लखनऊ। बरसात के मौसम में बस के भीतर बैठे यात्रियों को छाता लगाने को मजबूर करने वाले यूपी राज्य पथ परिवहन निगम ने पर्दाफाश की खबर को संज्ञान में लेते हुए जांच के बाद गुरुवार को लखनऊ के सीनियर फोरमैन सुभाष चंद्र प्रसाद को निलंबित कर दिया है।

मुख्य प्रधान प्रबंधक (प्रावि0) जयदीप वर्मा ने इस विषय में बताया है कि कुछ बसों की छत टपकने की शिकायत उन्हें प्राप्त हुई थी। जिसकी जांच के बाद लखनऊ उपनगरीय डिपो के सीनियर फोरमैन को विभागीय नियमों और कर्मचारी आचार संहिता का उल्लंघन करने एवं अपने कर्तव्यों व दायित्वों को सुचारू रूप से पालन न करने के फलस्वरूप तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

{ यह भी पढ़ें:- रहने के लिहाज से देश में 73वें स्थान पर है लखनऊ, ये है बाकी शहरों की स्थिती }

उनके मुताबिक सभी क्षेत्रों के सेवा प्रबंधकों को यह निर्देश दिए गए हैं कि समस्त बसों की मरम्मत के लिए समुचित व्यवस्था की जाए।

आपको बता दें कि टीम पर्दाफाश ने 1 अगस्त को प्रमुखता से उपनगरीय बस सेवा के यात्रियों की समस्या को अपनी खबर के माध्य से उठाया था।

{ यह भी पढ़ें:- लखनऊ : पुराने शहर को जल्द ही मिलेगी जाम के झाम से मुक्ति }

लखनऊ। बरसात के मौसम में बस के भीतर बैठे यात्रियों को छाता लगाने को मजबूर करने वाले यूपी राज्य पथ परिवहन निगम ने पर्दाफाश की खबर को संज्ञान में लेते हुए जांच के बाद गुरुवार को लखनऊ के सीनियर फोरमैन सुभाष चंद्र प्रसाद को निलंबित कर दिया है। मुख्य प्रधान प्रबंधक (प्रावि0) जयदीप वर्मा ने इस विषय में बताया है कि कुछ बसों की छत टपकने की शिकायत उन्हें प्राप्त हुई थी। जिसकी जांच के बाद लखनऊ उपनगरीय डिपो के…
Loading...