रात 12 बजे से बेमियादी हड़ताल पर चले जायेंगे संविदा चालक व परिचालक

कानपुर: उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के सविंदा चालक वा परिचालक वेतन वृद्धि की मांग पूरी ना होने के चलते रात 12 बजे से बेमियादी हड़ताल पर चले जायेंगे । इस हड़ताल में सरकारी सविंदा चालक वा परिचालक भी पूरा साथ देंगे । अगर परिवहन निगम के सभी चालक एक साथ हड़ताल पर चले जायेंगे तो यात्रियों को काफी मुश्किलो का सामना करना पड़ सकता है ।



त्यौहार आते ही सरकारी या सविंदा कर्मचारी अपना रंग दिखाने लगते है वह अपनी मांगो को पूरा करने के लिये या तो धरना प्रदर्शन करते है या फिर बेमियादी हड़ताल । इनकी हड़ताल से सबसे ज्यादा परेशानी उन लोगो को होती है जो गैर जनपदों में नौकरी करते है । इस दीपावली पर उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के 26 हजार सविंदा कर्मचारी रात 12 बजे से हड़ताल पर चले जायेंगे । अगर परिवहन निगम के कर्मचारियों की हड़ताल सफल रही तो बस में सफर करने वाले यात्रियों को काफी मुश्किलो का सामना करना पड़ सकता है ।

रोडवेज कर्मचारी संघ परिषद् के अध्यक्ष अरविन्द कुरील की माने तो 15 सूत्रीय मांगो को लेकर 2015 से हम लोग प्रयासरत है । पिछले महीने की 20 तारीख को परिवहन निगम मुख्यालय में बैठक के दौरान सहमति बनी लेकिन केवल पांच बिन्दुओ पर निर्णय लिया गया । सविंदा चालक परिचालक को न्यूनतम वेतन मान देना और सातवा वेतन मान लागू करने को भी कहा गया था जोकि नकार दिया गया ।

रात 12 बजे से सविंदा चालक वा परिचालक बेमियादी हड़ताल पर चले जायेंगे जिससे बस में सफर करने वाले यात्रियों को काफी मुश्किलो का सामना करना पड़ सकता है । रोडवेज कर्मचारी संघ परिषद् के क्षेत्रीय मंत्री सुरेंद्र सिंह सेंगर की दलील है कि हड़ताल करना हम लोगो की मजबूरी है क्योकि 2015 से लेकर अभी तक हमारी कुछ मांगे मानी गयी ।

बोर्ड की बैठक में सविंदा चालक वा परिचालक का जो मुद्दा था वो ले जाया ही नहीं गया । सविंदा कर्मचारी लगातार सरकार वा निगम से मांग कर रहे है लेकिन मानी नहीं जा रही है इसीलिये मजबूर होकर हड़ताल करनी पड़ रही है । संघ के मंत्री का कहना यात्रियों को चौबीस घंटे सुविधा देते है हड़ताल पर जाना मजबूरी है यात्रियों को जो परेशानी होगी उससे सभी कर्मचारी लोग दुखी है ।