1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UPTET Paper Leaked : यूपीटीईटी का पेपर लीक होने के बाद रद्द हुई परीक्षा

UPTET Paper Leaked : यूपीटीईटी का पेपर लीक होने के बाद रद्द हुई परीक्षा

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET ) रविवार 28 नवंबर को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आयोजित होनी थी। किंतु परीक्षा के दौरान पेपर लीक (Paper Leak) हो जाने की वजह से (UPTET ) परीक्षा को रद्द कर दिया गयाा है। इस बात की जानकारी बेसिक शिक्षा विभाग के निदेशक सर्वेंद्र विक्रम सिंह (Sarvendra Vikram Singh) ने दी। उन्होंने बताया कि वॉट्सएप पर प्रश्न पत्र लीक होने के कारण परीक्षा को निरस्त कर दिया गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET ) रविवार 28 नवंबर को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आयोजित होनी थी। किंतु परीक्षा के दौरान पेपर लीक (Paper Leak) हो जाने की वजह से (UPTET ) परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। इस बात की जानकारी बेसिक शिक्षा विभाग के निदेशक सर्वेंद्र विक्रम सिंह (Sarvendra Vikram Singh) ने दी। उन्होंने बताया कि वॉट्सएप पर प्रश्न पत्र लीक होने के कारण परीक्षा को निरस्त कर दिया गया है।

पढ़ें :- UPTET Paper Leaked : योगी बोले-पेपर लीक कराने वालों के खिलाफ दर्ज होगा गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा

एक महीने के भीतर अभ्यर्थियों से बिना कोई शुल्क लिए कराई जाएगी परीक्षा : बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी

बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी ने कहा कि एफआईआर कराने के निर्देश दिए गए है। इसके साथ ही यूपी एसटीएफ को जांच सौंपी जा रही है ताकि दोषियों को चिन्हित करके उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जा सके। उन्होंने बताया कि यूपी टीईटी की परीक्षा के पेपर लीक होने की सूचना मिली है इसलिए दोनों पालियों की परीक्षा तत्काल प्रभाव से निरस्त की जा रही है। पुनः एक महीने के भीतर अभ्यर्थियों से बिना कोई शुल्क लिए परीक्षा कराई जाएगी।

मुन्ना भाई ने सुरक्षा में लगाई सेंध

(UPTET ) का पेपर लीक होने के बाद एसटीएफ ने प्रदेश भर में छापेमारी की है। इसके तहत प्रयागराज, मेरठ और गाजियाबाद से कई लोग हिरासत में लिए गए हैं। बाद में परीक्षा की तिथि का एलान होगा।  बेसिक शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव दीपक कुमार ने बताया कि प्रयागराज में प्रश्न पत्र लीक होने की एफआईआर दर्ज कराई गई है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच एसटीएफ को सौंपी गई है

एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि पेपर लीक करने वाले कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उनसे पूछताछ चल रही है जल्द ही पूरे मामले का खुलासा किया जाएगा।

28 नवंबर को होने वाली शिक्षक पात्रता परीक्षा कड़े इंतजाम किए गए थे। उत्तर प्रदेश सरकार ने परीक्षा में नकल रोकने के लिए कई एतियातन कई फैसले लिए गए थे। परीक्षा केंद्रों में लाइव सर्विलांस के जरिए नजर रखने व सीसीटीवी कैमरों की बदौलत यह काम सुनिश्चित किया जाएगा। इसकी लगातार मॉनिटरिंग होगी। परीक्षा केंद्रों में इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को लाने पर प्रतिबंध है। सोशल मीडिया पर परीक्षा को लेकर दूष्प्रचार करने वालों पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। सोशल मीडिया में किसी भी तरह की भ्रामक सूचना फैलाने वालों पर, नकल का प्रयास करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। साथ ही परीक्षा केंद्रों के प्रवेश द्वार पर उम्मीदवारों की रिकॉर्डिंग भी की जाएगी। प्रश्नपत्र खोले जाने के समय वीडियो रिकार्डिंग करवाई जाएगी।

पढ़ें :- यूपी की भर्तियों में भ्रष्टाचार, पेपर आउट होना बन चुका है योगी सरकार की पहचान : Priyanka Gandhi

सूबे में 2554 केंद्रों पर आज दो पाली में होनी थी परीक्षा 

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2021 (यूपीटीईटी) आज सूबे के सभी जिलों में 2554 केंद्रों पर आयोजित होनी थी। पहली पाली की परीक्षा सुबह 10 बजे से 12:30 के बीच संपन्न होनी थी। पहली पाली में प्राथमिक स्तर की परीक्षा में 1291628 अभ्यर्थी थे। दूसरी पाली में उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा दोपहर ढाई से पांच बजे के बीच संपन्न होनी थी। इसमें कुल 873553 अभ्यर्थी थे। पहली पाली के लिए 2554 और दूसरी पाली की परीक्षा के लिए 1747 केंद्र बनाए गए थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...