1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. अमेरिका का दावा- तीन देशों के दुष्प्रचार से फैला कोरोना वायरस

अमेरिका का दावा- तीन देशों के दुष्प्रचार से फैला कोरोना वायरस

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को लेकर अमेरिका ने कहा है कि यदि रूस, चीन और ईरान ने COVID-19 के बारे में सही जानकारी दी होती तो इसे फैलने से रोका जा सकता था। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने इन तीनों देशों पर COVID-19 को लेकर ‘दुष्प्रचार’ फैलाने का आरोप लगाया है। 

बता दें कि अमेरिका में 250 से ज्‍यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में आकर जान गंवा चुके हैं। वहीं, 20 हजार से ज्‍यादा लोग इससे संक्रमित हैं। दो अमेरिका सांसदों को भी कोरोना वायरस ने अपनी चपेट में ले लिया है। अमेरिका में कोरोना वायरस की वजह से हालात और बिगड़ने की आशंका है, जिस वजह से ट्रंप प्रशासन चीन और रूस पर बेहद गुस्‍सा है।

शुक्रवार को व्हाइट हाउस में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पोम्पियो ने कहा,‘कोरोना को लेकर बुरी तरीके से दुष्प्रचार फैलाया जा रहा है। इसलिए जरूरी है कि जिस किसी को इससे संबंधित कोई जानकारी मिलती है, वो सोर्स की जांच जरूर करें। कई सारे ‘बुरे एक्टर’ अफवाह फैला रहे हैं जो कि पूरी तरह गलत है।’

उन्होंने आगे कहा, ‘मैं गलत जानकारी के बारे में बात करना चाहता हूं, जो कि ट्विटर समेत कई सारे सोशल साइट्स पर पूरी दुनिया में घूम रहे हैं। इनमें से कुछ सरकार की तरफ से भी आ रही हैं जबकि कई सारे अन्य लोगों द्वारा फैलाया जा रहा है।

पोम्पियो ने कोरोना वायरस को लेकर ती देशों पर दुष्प्रचार फैलाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, ‘दुर्भाग्य से चीन, रूस और ईरान जैसे देशों की तरफ से यह फैलाया जा रहा है। जहां पर हमलोग कोरोना वायरस को फैलने से रोकने की कोशिश कर रहे हैं।’

पोम्पियो ने कहा, ‘कई जगह ऐसी सूचना प्रसारित की जा रही है कि COVID-19 अमेरिकी सेना की वजह से पैदा हुआ है। इस वजह से अमेरिका में लॉकडाउन किया गया है। सभी अमेरिकीवासियों से अपील है कि वो यह जरूर चेक करें कि उन्हें इस तरह की जानकारी कहां से मिल रही है।’

पूरी दुनिया में 10 हजार से अधिक लोगों की मौत

बता दें, कोरोना वायरस महामारी की चपेट में आकर शुक्रवार तक करीब पूरी दुनिया में 10 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। चीन से फैले कोरोना वायरस ने दुनियाभर के करोड़ों लोगों में दहशत पैदा कर दिया है। इस वजह से लोग अपने घरों में रहने को मजबूर हैं।

यूरोप में कोरोना वायरस ने पांच हजार से अधिक लोगों की जान चली गई है। इटली जो COVID-19 से बुरी तरह प्रभावित है वहां पर मृतकों का आंकड़ा 3,405 पर पहुंच गया है।

वहीं, चीन में कुछ राहत देखने को मिली है। यहां कोरोना वायरस के ज्यादातर मामले विदेशों से आने वालों में ही दिखे हैं।

इस बीच, अमेरिका ने संकेत दिए हैं कि वह सभी मोर्चों पर अपने प्रयासों को तेज कर रहा है। इसके तहत वायरस के इलाज के लिए दवा विकसित करने के साथ ही आर्थिक मोर्चे की दिक्कतों को दूर करने के लिए एक हजार अरब के आपातकालीन राहत पैकेज का वादा किया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...