1. हिन्दी समाचार
  2. #HowdyModi: PM मोदी से मिलकर भावुक हुए कश्मीरी पंडित, हाथ चूमकर बोला 7 लाख पंडितों की ओर से शुक्रिया

#HowdyModi: PM मोदी से मिलकर भावुक हुए कश्मीरी पंडित, हाथ चूमकर बोला 7 लाख पंडितों की ओर से शुक्रिया

Us Pm Narendra Modi Meets Kashmiri Pandits And Sikh Community In Houston

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। अमेरिका (America) दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का भारतीय समुदाय के लोगों ने जोरदार स्वागत किया।  इस दौरान उनका भव्य स्वागत किया गया। एयरपोर्ट पर उनसे कई भारतीय और अमेरिकी अधिकारियों ने मुलाकात की इस दौरान भारतीय समुदाय के लोग बहुत खुश नजर आए। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाए जाने को लेकर कश्मीरी पंडितों ने पीएम मोदी को धन्यवाद दिया।

पढ़ें :- नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली को कम्युनिस्ट पार्टी से किया गया बाहर

पीएम मोदी (PM Modi) ने इस दौरान कश्मीरी पंडितों (Kashmiri Pandit) की तकलीफों का जिक्र करते हुए कहा, ‘आपने बहुत कुछ सहा है, लेकिन अब दुनिया बदल रही है। अब हमें साथ मिलकर आगे बढ़ना है और एक नया कश्मीर बनाना है।’ प्रधानमंत्री ने कश्मीरी पंडितों से मुलाकात का वीडियो भी साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘ह्यूस्टन में कश्मीरी पंडितों से खास बातचीत हुई।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के दौरान कश्मीरी पंडितों से ‘नमस्ते शारदे देवी’ श्लोक का पाठ किया. इस दौरान पीएम मोदी काफी उत्साहित दिखाई दिए उन्होंने कहा अगेन नमो नम:।  

कश्मीरी पंडित ने चूमा पीएम मोदी का हाथ

ह्यूस्टन में मौजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कश्मीरी पंडितों (Kashmiri Pandit) के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की और काफी देर तक बात की। इस मौके पर प्रतिनिधमंडल के एक सदस्य सुरिंदर कौल ने पीएम मोदी के हाथों को चूमा और कहा, “जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाए जाने के फैसले का हम स्वागत करते हैं और 7 लाख कश्मीरी पंडित आपको धन्यवाद देते हैं।”  

पढ़ें :- उत्तर प्रदेश स्थापना दिवसः पीएम मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ से लेकर कई नेताओं ने दी बधाई

कश्मीरी पंडितों को वापस बसाया जाए

कश्मीरी पंडितों ने प्रधानमंत्री को जो ज्ञापन सौंपा, उसमें कश्मीर में उनके समुदाय के लोगों को फिर से बसाए जाने और कश्मीर का विकास करने का अनुरोध किया। इसके लिए उन्होंने एक सलाहकार परिषद का गठन करने की मांग की, जिसमें कश्मीरी पंडित नेताओं, विशेषज्ञों और उद्योगपतियों को शामिल किया जाए।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...