डोनाल्ड ट्रंप: सितंबर तक टली G7 समिट, भारत को करूंगा आमंत्रित

डोनाल्ड ट्रंप: सितंबर तक टली G7 समिट, भारत को करूंगा आमंत्रित
डोनाल्ड ट्रंप: सितंबर तक टली G7 समिट, भारत को करूंगा आमंत्रित

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जून के आखिर में होने वाली G7 समिट को सितंबर तक टालने का आदेश दे दिया है। अब इसमें शामिल होने वाले देशों की लिस्ट को बढ़ाया जा सकता है। जिसमें भारत भी शामिल है। साथ ही ट्रंप ने कहा कि वह इसमें भारत, रूस, साउथ कोरिया और ऑस्ट्रेलिया को शामिल करना चाहते हैं।

Us President Donald Trump Postpones G7 Summit :

ट्रंपमिली जानकारी के मुताबिक वर्तमान G7 फॉर्मैट को आउटडेटेड (पुराना) बताया है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘मैं इस समिट को स्थगित कर रहा हूं क्योंकि मुझे ये नहीं लगता कि दुनिया में जो चल रहा है, उसकी ये सही नुमाइंदगी करता है। यह देशों का बहुत ही पुराना समूह हो गया है।’ बता दें कि G7 समिट पहले 10 से 12 जून के बीच वॉशिंगटन में होनी थी। लेकिन कोरोना महामारी की वजह से बाद में इसे जून के अंत तक के लिए शिफ्ट कर दिया गया।

वाइट हाउस के प्रवक्ता ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप अमेरिकी के दूसरे पारंपरिक सहयोगियों और कोरोना से प्रभावित कुछ देशों को इसमें लाना चाहते हैं। साथ ही इसमें चीन के भविष्य को लेकर भी चर्चा होगी। इसी महीने यूएस नैशनल सिक्यॉरिटी अडवाइजर रॉबर्ट ओ ब्रायन ने कहा था कि कोरोना की वजह से अमेरिका अगली जी-7 मीटिंग जून के आखिर तक स्थगित कर रहा है। बता दें कि अमेरिका में कोरोना वायरस से 1 लाख 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। G7 में अभी अमेरिका के अलावा इटली, जापान, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन के साथ यूरोपियन यूनियन शामिल हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जून के आखिर में होने वाली G7 समिट को सितंबर तक टालने का आदेश दे दिया है। अब इसमें शामिल होने वाले देशों की लिस्ट को बढ़ाया जा सकता है। जिसमें भारत भी शामिल है। साथ ही ट्रंप ने कहा कि वह इसमें भारत, रूस, साउथ कोरिया और ऑस्ट्रेलिया को शामिल करना चाहते हैं। ट्रंपमिली जानकारी के मुताबिक वर्तमान G7 फॉर्मैट को आउटडेटेड (पुराना) बताया है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, 'मैं इस समिट को स्थगित कर रहा हूं क्योंकि मुझे ये नहीं लगता कि दुनिया में जो चल रहा है, उसकी ये सही नुमाइंदगी करता है। यह देशों का बहुत ही पुराना समूह हो गया है।' बता दें कि G7 समिट पहले 10 से 12 जून के बीच वॉशिंगटन में होनी थी। लेकिन कोरोना महामारी की वजह से बाद में इसे जून के अंत तक के लिए शिफ्ट कर दिया गया। वाइट हाउस के प्रवक्ता ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप अमेरिकी के दूसरे पारंपरिक सहयोगियों और कोरोना से प्रभावित कुछ देशों को इसमें लाना चाहते हैं। साथ ही इसमें चीन के भविष्य को लेकर भी चर्चा होगी। इसी महीने यूएस नैशनल सिक्यॉरिटी अडवाइजर रॉबर्ट ओ ब्रायन ने कहा था कि कोरोना की वजह से अमेरिका अगली जी-7 मीटिंग जून के आखिर तक स्थगित कर रहा है। बता दें कि अमेरिका में कोरोना वायरस से 1 लाख 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। G7 में अभी अमेरिका के अलावा इटली, जापान, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन के साथ यूरोपियन यूनियन शामिल हैं।