अमेरिकी लेखिका ने डोनाल्ड ट्रंप पर लगाया रेप का आरोप

lekhika

नई दिल्ली। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर एक बार फिर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। यह आरोप एक कॉलमिस्ट ने लगाया है। न्यूयॉर्क में एक पत्रिका में छपी रिपोर्ट के मुताबिक एक लेखिका ने दावा किया कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 1990 के मध्य में मैनहट्टन डिपार्टमेंट स्टोर के एक ड्रेसिंग रूम में उनका यौन उत्पीड़न किया था। वहीं राष्ट्रपति ट्रंप ने इन आरोपों को खारिज किया है। ट्रंप की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ‘मैं कभी इस महिला से नहीं मिला।

Us President Donald Trump Sexual Assault Writer Us President Hand Under My Dress :

महिला ने डोनाल्ड ट्रंप पर यह आरोप एक किताब hideous men में लगाया है। कैरल का दावा है कि उन्होंने जीवनभर पुरुषों की हिंसा का सामना किया। हालांकि ट्रंप की ओर से जारी बयान के मुताबिक ‘यह घटना कभी हुई ही नहीं। कैरोल की नई किताब के एक अंश में और न्यूयॉर्क मैगजीन द्वारा शुक्रवार को प्रकाशित इस लेख में खुलासा किया गया है कि वह राष्ट्रपति बनने से पहले ट्रंप पर यौन दुर्व्यवहार का आरोप लगाने वाली कम से कम 16वीं महिला हैं।

कैरोल के आरोपों को ट्रंप ने तत्काल खारिज किया है। एक बयान जारी कर ट्रंप ने कहा कि वह कभी कैरोल से मिले तक नहीं हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि यह लेखिका का किताब बेचने के लिए हथकंडा है। उन्होंने बयान में कहा कि इस किताब को फिक्शन सेक्शन में बेचा जाना चाहिए।

ट्रंप ने अपने बयान में कहा, ‘उन लोगों को शर्म आना चाहिए जो हमलों की झूठी कहानियां गढ़ते हैं। ये पब्लिसिटी के लिए या फिर किताब बेचने या फिर राजनीतिक अजेंडे के लिए ऐसा करते हैं, जैसे जूली स्वेटनिक ने जस्टिस ब्रेट कावनॉग पर राजनीतिक अजेंडे के तहत झूठे आरोप लगाए थे।’

नई दिल्ली। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर एक बार फिर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। यह आरोप एक कॉलमिस्ट ने लगाया है। न्यूयॉर्क में एक पत्रिका में छपी रिपोर्ट के मुताबिक एक लेखिका ने दावा किया कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 1990 के मध्य में मैनहट्टन डिपार्टमेंट स्टोर के एक ड्रेसिंग रूम में उनका यौन उत्पीड़न किया था। वहीं राष्ट्रपति ट्रंप ने इन आरोपों को खारिज किया है। ट्रंप की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि 'मैं कभी इस महिला से नहीं मिला। महिला ने डोनाल्ड ट्रंप पर यह आरोप एक किताब hideous men में लगाया है। कैरल का दावा है कि उन्होंने जीवनभर पुरुषों की हिंसा का सामना किया। हालांकि ट्रंप की ओर से जारी बयान के मुताबिक 'यह घटना कभी हुई ही नहीं। कैरोल की नई किताब के एक अंश में और न्यूयॉर्क मैगजीन द्वारा शुक्रवार को प्रकाशित इस लेख में खुलासा किया गया है कि वह राष्ट्रपति बनने से पहले ट्रंप पर यौन दुर्व्यवहार का आरोप लगाने वाली कम से कम 16वीं महिला हैं। कैरोल के आरोपों को ट्रंप ने तत्काल खारिज किया है। एक बयान जारी कर ट्रंप ने कहा कि वह कभी कैरोल से मिले तक नहीं हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि यह लेखिका का किताब बेचने के लिए हथकंडा है। उन्होंने बयान में कहा कि इस किताब को फिक्शन सेक्शन में बेचा जाना चाहिए। ट्रंप ने अपने बयान में कहा, 'उन लोगों को शर्म आना चाहिए जो हमलों की झूठी कहानियां गढ़ते हैं। ये पब्लिसिटी के लिए या फिर किताब बेचने या फिर राजनीतिक अजेंडे के लिए ऐसा करते हैं, जैसे जूली स्वेटनिक ने जस्टिस ब्रेट कावनॉग पर राजनीतिक अजेंडे के तहत झूठे आरोप लगाए थे।'