अमेरिकी राष्ट्रपति के कार्यक्रम का नाम बदलकर किया गया ‘नमस्ते ट्रंप’

donald
अमेरिकी राष्ट्रपति के कार्यक्रम का नाम बदलकर किया गया 'नमस्ते ट्रंप'

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के स्वागत के स्वागत में 24 फरवरी को अहमदाबाद में होने वाले भव्य समारोह का नाम केमछो ट्रम्प नहीं बल्कि ‘नमस्ते ट्रम्प’ होगा। नाम का यह बदलाव केंद्र सरकार ने कार्यक्रम को राष्ट्रीय रंगत देने के लिए किया गया है। इतने बड़े वीवीआईपी आयोजन के लिए पुलिस-प्रशासन ने कमर कस ली है। 24 को वीआईपी और वीवीआईपी को छोड़कर स्टेडियम आने वाले लोगों को करीब 1.5 किमी पैदल चलना होगा।  

Us Presidents Program Renamed Namaste Trump :

‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में करीब 1.2 लाख लोगों के पहुंचने की उम्मीद है। अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप पत्नी मेलानिया संग अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में लोगों को संबोधित करेंगे। डीसीपी (कंट्रोल) विजय पटेल ने बताया कि बसों और कारों की पार्किंग के स्टेडियम के आसपास 28 खाली प्लॉट्स को चुना गया है। उन्होंने कहा, ‘ये प्लॉट्स स्टेडियम के 1.5 किमी के दायरे में हैं, इसलिए लोगों को बहुत ज्यादा नहीं चलना पड़ेगा।’

सुरक्षा-व्यवस्था में लगाए गए 11,000 से ज्यादा जवान

उन्होंने कहा, ‘शहर के बाहर से आने वाली गाड़ियों से अव्यवस्था न हो, इसके लिए हम ट्रायल भी करेंगे।’ उन्होंने बताया कि पांच मुख्य टीमें एयरपोर्ट रिसेप्शन, साबरमती आश्रम, रोड शो, मोटेरा स्टेडियम की सुरक्षा और शहर के ट्रैफिक के लिए बनाई गई हैं। करीब 11 हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी और अधिकारी इस ड्यूटी में शामिल होंगे। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बिना नाम वाले कार्ड के किसी को भी स्टेडियम के अंदर घुसने की इजाजत नहीं होगी। शनिवार को एनएसजी और अन्य एलीट सुरक्षा एजेंसियां अहमदाबाद पहुंच गईं।

प्यार की निशानी ताज का दीदार कर सकते हैं ट्रंप

राष्ट्रपति ट्रंप 24 फरवरी को ही ताज महल का दीदार करने भी पहुंच सकते हैं। हालांकि अभी इसको लेकर वाइट हाउस की ओर से कोई कार्यक्रम नहीं जारी किया गया है। अभी सिर्फ अंतरिम शेड्यूल मिला है जिसके मुताबिक ट्रंप 24 फरवरी को शाम 4:30 बजे ताज महल पहुंच सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक, संभावित दौरे को लेकर अहमदाबाद-आगरा के बीच रूट प्लान पर काम किया जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि अमेरिकी दूतावास के वरिष्ठ अधिकारी सोमवार को आगरा पहुंचेंगे। यहां वे तैयारियां देखेंगे और सुरक्षा से जुड़े अधिकारियों से बात करेंगे।  

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के स्वागत के स्वागत में 24 फरवरी को अहमदाबाद में होने वाले भव्य समारोह का नाम केमछो ट्रम्प नहीं बल्कि 'नमस्ते ट्रम्प' होगा। नाम का यह बदलाव केंद्र सरकार ने कार्यक्रम को राष्ट्रीय रंगत देने के लिए किया गया है। इतने बड़े वीवीआईपी आयोजन के लिए पुलिस-प्रशासन ने कमर कस ली है। 24 को वीआईपी और वीवीआईपी को छोड़कर स्टेडियम आने वाले लोगों को करीब 1.5 किमी पैदल चलना होगा।   'नमस्ते ट्रंप' कार्यक्रम में करीब 1.2 लाख लोगों के पहुंचने की उम्मीद है। अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप पत्नी मेलानिया संग अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में लोगों को संबोधित करेंगे। डीसीपी (कंट्रोल) विजय पटेल ने बताया कि बसों और कारों की पार्किंग के स्टेडियम के आसपास 28 खाली प्लॉट्स को चुना गया है। उन्होंने कहा, 'ये प्लॉट्स स्टेडियम के 1.5 किमी के दायरे में हैं, इसलिए लोगों को बहुत ज्यादा नहीं चलना पड़ेगा।' सुरक्षा-व्यवस्था में लगाए गए 11,000 से ज्यादा जवान उन्होंने कहा, 'शहर के बाहर से आने वाली गाड़ियों से अव्यवस्था न हो, इसके लिए हम ट्रायल भी करेंगे।' उन्होंने बताया कि पांच मुख्य टीमें एयरपोर्ट रिसेप्शन, साबरमती आश्रम, रोड शो, मोटेरा स्टेडियम की सुरक्षा और शहर के ट्रैफिक के लिए बनाई गई हैं। करीब 11 हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी और अधिकारी इस ड्यूटी में शामिल होंगे। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बिना नाम वाले कार्ड के किसी को भी स्टेडियम के अंदर घुसने की इजाजत नहीं होगी। शनिवार को एनएसजी और अन्य एलीट सुरक्षा एजेंसियां अहमदाबाद पहुंच गईं। प्यार की निशानी ताज का दीदार कर सकते हैं ट्रंप राष्ट्रपति ट्रंप 24 फरवरी को ही ताज महल का दीदार करने भी पहुंच सकते हैं। हालांकि अभी इसको लेकर वाइट हाउस की ओर से कोई कार्यक्रम नहीं जारी किया गया है। अभी सिर्फ अंतरिम शेड्यूल मिला है जिसके मुताबिक ट्रंप 24 फरवरी को शाम 4:30 बजे ताज महल पहुंच सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक, संभावित दौरे को लेकर अहमदाबाद-आगरा के बीच रूट प्लान पर काम किया जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि अमेरिकी दूतावास के वरिष्ठ अधिकारी सोमवार को आगरा पहुंचेंगे। यहां वे तैयारियां देखेंगे और सुरक्षा से जुड़े अधिकारियों से बात करेंगे।