गंजेपन की समस्या दूर करने के लिए इस्तेमाल करें ये एक उपाय, जल्द दिखेगा असर

    Untitled-73

    लखनऊ: सिर में गंजापन एक हास्य का पात्र बना देता है अगर सिर के बाल झड़ना शुरू होने के शुरआत में इसका उपाय करे तो इसे रोका जा सकता है इसके लिए असरदार आयुर्वेदिक नुस्खा है हरसिंगार का काढ़ा।

    Use This Remedy To Remove Baldness Problem Soon It Will Show Effect :

    हरसिंगार एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसके फूल पत्तियों का भी इस्तेमाल भी आयुर्वेद में किया जाता है, आज हम आपके साथ शेयर करने जा रहे है इसके काढ़ा बनाने का तरीका

    आवश्यक सामग्री 

    • 100 ग्राम हरसिंगार फूल और पत्ते
    • 4 ग्राम चूना (पान में लगाया जाने वाला चूना)
    • 1 लीटर पानी
    • नींबू का रस
    • गुड़ या सहद

    काढ़ा बनाने की विधि

    हरसिंगार के फूल और पत्तों को लें और उसे धो कर सूखा लें। फिर इन्हें ओखली में अच्छे से कुटिए इन दोनों को कुटने के बाद इसे एक बार फिर से धूप में सूखा लें ताकि आप इसे कुछ दिनों के लिए रख सकें। इसके बाद आप जब भी काढ़ा बनाना चाहें।

    इस पाउडर को लेकर गर्म पानी में डालकर उबाल लें।ध्यान रखें कि पानी लगभग 1 लीटर के करीब हो और फिर पाउडर को उसमें डालकर हल्की आंच में पकायें।जब आपको लगे कि यह घटकर 2 कप जितना बन गया है तो आंच से उतार दें।

    फिर छानकर काढ़ा निकाल लें। फिर थोड़ा सा चूना, कुछ बूंद नींबू का रस और मिठास के लिए सहद या गुड़ को अच्छे से घोलकर गर्म गर्म पीयें। इस काढ़े और गाढ़ा करके 30 मिनट तक गंजे सिर पर लगायें। इस प्रयोग को लगातार 21 दिन तक करने से गंजेपन में फायदा नजर आएगा।

    लखनऊ: सिर में गंजापन एक हास्य का पात्र बना देता है अगर सिर के बाल झड़ना शुरू होने के शुरआत में इसका उपाय करे तो इसे रोका जा सकता है इसके लिए असरदार आयुर्वेदिक नुस्खा है हरसिंगार का काढ़ा। हरसिंगार एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसके फूल पत्तियों का भी इस्तेमाल भी आयुर्वेद में किया जाता है, आज हम आपके साथ शेयर करने जा रहे है इसके काढ़ा बनाने का तरीका

    आवश्यक सामग्री 

    • 100 ग्राम हरसिंगार फूल और पत्ते
    • 4 ग्राम चूना (पान में लगाया जाने वाला चूना)
    • 1 लीटर पानी
    • नींबू का रस
    • गुड़ या सहद

    काढ़ा बनाने की विधि

    हरसिंगार के फूल और पत्तों को लें और उसे धो कर सूखा लें। फिर इन्हें ओखली में अच्छे से कुटिए इन दोनों को कुटने के बाद इसे एक बार फिर से धूप में सूखा लें ताकि आप इसे कुछ दिनों के लिए रख सकें। इसके बाद आप जब भी काढ़ा बनाना चाहें। इस पाउडर को लेकर गर्म पानी में डालकर उबाल लें।ध्यान रखें कि पानी लगभग 1 लीटर के करीब हो और फिर पाउडर को उसमें डालकर हल्की आंच में पकायें।जब आपको लगे कि यह घटकर 2 कप जितना बन गया है तो आंच से उतार दें। फिर छानकर काढ़ा निकाल लें। फिर थोड़ा सा चूना, कुछ बूंद नींबू का रस और मिठास के लिए सहद या गुड़ को अच्छे से घोलकर गर्म गर्म पीयें। इस काढ़े और गाढ़ा करके 30 मिनट तक गंजे सिर पर लगायें। इस प्रयोग को लगातार 21 दिन तक करने से गंजेपन में फायदा नजर आएगा।