1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UPTET Paper Leaked : UPSTF एक्शन में, इस तिकड़ी ने आउट कराया था पेपर

UPTET Paper Leaked : UPSTF एक्शन में, इस तिकड़ी ने आउट कराया था पेपर

यूपी टीईटी (UPTET) का पेपर लीक (Paper Leaked) होने के बाद सरकार और एजेंसियां पूरे एक्शन में हैं। यूपी एसटीएफ (UP STF) और पुलिस लगातार आरोपियों की धरपकड़ जारी रखे हुए है। इसी क्रम में मंगलवार को बागपत  पुलिस (Baghpat Police) ने एक ऐसे आरोपी को गिरफ्तार किया है, जो इस मामले में अहम किरदार निभा रहा था।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। यूपी टीईटी (UPTET) का पेपर लीक (Paper Leaked) होने के बाद सरकार और एजेंसियां पूरे एक्शन में हैं। यूपी एसटीएफ (UP STF) और पुलिस लगातार आरोपियों की धरपकड़ जारी रखे हुए है। इसी क्रम में मंगलवार को बागपत  पुलिस (Baghpat Police) ने एक ऐसे आरोपी को गिरफ्तार किया है, जो इस मामले में अहम किरदार निभा रहा था।

पढ़ें :- केशव का अखिलेश पर बड़ा हमला, बोले- परिवार तो संभल नहीं रहा, देख रहे हैं यूपी सम्भालने का सपना

यूपीटीईटी परीक्षा का पेपर आउट (UPTET Exam Paper Out) कराने के मामले में बागपत (Baghpat) के बड़ौत से राहुल चौधरी को गिरफ्तार (Rahul Chaudhary arrested from Baraut) किया  है। जिसके कब्जे से 1 सेट टीईटी पेपर, 6 एडमिट कार्ड, 5 एडमिट कार्ड SI भर्ती (Admit Card SI Recruitment) , 3 फोन और नकदी बरामद की गई है। जानकारी के मुताबिक आरोपी राहुल चौधरी  (Rahul Chaudhary) ने अपने साथियों के साथ मिलकर परीक्षा से एक दिन पहले 27 नवंबर को ही पेपर आउट कर कीमत चुकाने वाले तमाम अभ्यर्थियों को भेजा था।

इस मामले में राहुल के साथ शामली निवासी रवि उर्फ बंटी भी शामिल था, जिसने परीक्षा से एक दिन पहले रात को राहुल चौधरी (Rahul Chaudhary) को टीईटी सेकेंड पाली का पेपर मुहैया कराया था। इस काम में राहुल के साथ बागपत निवासी फिरोज, शाहपुर निवासी बबलू उर्फ बलराम भी शामिल थे। इस तरह से बंटी-बबली के साथ मिलकर राहुल चौधरी ने पेपर लीक किया था।

बता दें कि बीते रविवार यानी 28 नवंबर को सूबे में (UPTET)  परीक्षा आयोजित की गई थी। जिसका पेपर लीक हो गया था। इसी वजह से परीक्षा रद्द कर दी गई थी। उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET) का प्रश्‍नपत्र वॉट्सऐप पर लीक हुआ था।

पहला पेपर सुबह 10 बजे से दोपहर 12:30 बजे तक और दूसरा पेपर दोपहर 2:30 बजे से शाम 5 बजे तक आयोजित किया जाना था। पेपर लीक की ख़बर सामने आने के बाद यूपी STF ने प्रदेश भर में छापेमारी की। जिसके बाद प्रयागराज, मेरठ और गाजियाबाद में कई लोग दबोचे गए। इस मामले में यूपी मेरठ STF ने 3 लोगों को शमली से गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू कर दी है।

पढ़ें :- Aparna Yadav, बोलीं- मैं राष्ट्र आराधना करने निकली हूं, मोदी-योगी की तारीफ

मनीष उर्फ मोनू, पुत्र देवेंद्र मालिक, रवि पुत्र विनोद कांधला और धर्मेन्द्र पुत्र कुंवर पाल से पूछताफ जारी है। लखनऊ से 4, शामली से 3, अयोध्या से 2, कौशांबी से 1 और प्रयागराज से 13 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...