बिजली बकायेदारों का 19000 करोड़ का सरचार्ज माफ करने की तैयारी में योगी सरकार

लखनऊ| यूपी की सत्ता संभालते ही योगी आदित्यनाथ एक्शन में नजर आ रहे हैं| वह प्रदेश की जनता को राहत देने के लिए एक के बाद एक लोक लुभावन फैसले ले रहे हैं| अब योगी सरकार बिजली बकायेदारों का करीब 19,000 हजार करोड़ रुपये सरचार्ज माफ करने की तैयारी में है| बिजली कंपनियों के भारी घाटे के बावजूद सरकार यह फैसला लेने जा रहे है|




बता दें कि विद्युत नियामक आयोग ने दो साल पहले ही एकमुश्त समाधान योजना (ओटीएस) पर रोक लगा दी है| अब नए नाम एमनेस्टी स्कीम के जरिये बकायेदारों का पूरा का पूरा सरचार्ज माफ करने की विद्युत नियामक आयोग से मंजूरी मांगी गई है| इतना ही नहीं इस बार इसका दायरा भी बढ़ा दिया गया है| गांव से लेकर शहरों तक के घरेलू उपभोक्ताओं के साथ-साथ बकायेदार बड़े कॉमर्शियल, औद्योगिक, नए और पुराने सभी उपभोक्ताओं को इसका फायदा देने का प्रस्ताव है|

आयोग एमनेस्टी स्कीम का परीक्षण कर रहा है| पावर कार्पोरेशन में कुछ और सूचनाएं तलब की गई हैं\ स्कीम के सारे पहलुओं पर विचार और परीक्षण के बाद आयोग अगले सप्ताह तक कुछ संशोधनों के साथ इसे मंजूरी दे सकता है|




प्रदेश में सभी श्रेणियों को मिलाकर लगभग 1.75 करोड़बिजली उपभोक्ता हैं| इनमें से लाखों उपभोक्ता ऐसे हैं जो लंबे समय से बिजली का बिल चुकता नहीं कर रहे हैं। ग्रामीण और शहरी घरेलू उपभोक्ताओं के अलावा बड़े कॉमर्शियल और औद्योगिक उपभोक्ताओं पर भी भारी बिजली का बिल बकाया है| सूत्रों के मुताबिक सभी श्रेणियों पर कुल बकाया 35,000 करोड़ रुपये के आसपास है जिसमें सरचार्ज की रकम तकरीबन 19,000 करोड़ है|