मंत्री के सामने बवाल

प्रतापगढ़l सूबे के स्वास्थ्य मंत्री शिवाकान्त ओझा ने आज अपने गृह जनपद प्रतापगढ़ के जिला और महिला अस्पताल के औचक निरीक्षण पर पहुंचे जहाँ एक वार्ड बॉय को मंत्री के गुर्गों ने पीट दिया जिसके बाद मंत्री का विरोध सुरु हो गया और नरज़ा स्वास्थ्य कर्मियों ने अस्पताल का मुख्य द्वार बन्द कर मंत्री का रास्ता रोक लिया जिसके बाद मौके पर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक स्वामी प्रसाद ने कमान संभालते हुए किसी तरह मंत्री के काफिले को बाहर निकाला उसके बाद मेडिकल स्टाफ को दौड़ा दौड़ा कर लात घुन्शो और पिटा यही नही धज्जिया उड़ाते हुए अपर पुलिस अधीक्षक ने एक स्टाफ को जमीन पर घसीटते हुए दो सौ मीटर तक ले और आधा दर्ज़न लोगों को हिरासत में ले लिया जिसके बाद स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह से ठप्प हो गयी । करीब दो घंटे के निरिक्षण में मंत्री को कई ख़मिया मिली जिस पर उन्होंने एक नर्स को बर्खास्त कर दिया जबकि महिला अस्पताल के सी एम् एस के खिलाफ अपर निदेशक को जांच के बाद कार्यवाही एक आदेश देते हुए स्वास्थ्य सेवाओं के ठेके को ततकाल प्रभाव से निरस्त कर दिया




गृह जनपद के अस्पताल के औचक निरिक्षण पर पहुचनहे सूबे के स्वाथ्य मंत्री को जिला महिला और जिला अस्पताल में खामिया ही ख़मिया नज़र आयी ,सबसे पहले मंत्री का काफिला सुबह सवा नौ बजे जिला महिला अस्पताल पहुंचा जहाँ कई डॉक्टर नदारद मिले और सी एम् एस ,सी एम् ओ समेत डाकटरो और अधिकारियों में हड़कम्प मच गया किसी तरह से डॉक्टर अस्पताल पहुंचे जहाँ सी एम् ओ के साथ मंत्री ने इमरजेंसी से लेकर सभी वार्डो का जिसमे तीमारदारों और मरीज़ों ने डॉक्टरों द्वारा की जा रही वसूली की शिकायत किया, सभी मेडिकल स्टाफ के सामने शिकायत पर मन्तरी जी पारा गरम हो गया और उन्हीने चद्दर न बदलने,गंदगी और अवैध वसूली पर नाराज़ दिखे और जमकर फटकार लगाई यही नही मंत्री ने ताबड़तोड़ कार्यवाही करते हुए एक स्टाफ नर्स ए पी भट्ट को बर्खाश्त करते हुए महिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी के खिलाफ अपर निदेशक को जांच सौंपी ,इसके साथ साथ स्वास्थ्य सेवाओं के ठेके को मंत्री ने ततकाल प्रभाव से निरस्त कर दिया ।




स्वास्थ्य मंत्री के निरिक्षण के दौरान मामला कहासुनी के बाद मंत्री के गुर्गो ने वार्ड बॉय जे पी यादव को इमरजेंसी के अंदर ही जमकर पीटा और उसे सौचालय के भीतर धेकेल कर बंद कर दिया जिससे आक्रोशित स्टाफ ने आरोपी को पकड़ लिया और उसकी धुनाई करने की कोशिश की लेकिन वह भाग निकला ,नाराज़ मेडिकल स्टाफ की तरफ जिला अस्पताल का गेट बन्द करके मंत्री का रास्ता रोक लिया जिसके बादमौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह मंत्री के गाडी निकलवाई और कर्मचारियों को पुलिस ने जमकर पीटा। अपर पुलिस अधीक्षक स्वामी नाथ ने करीब 200 मीटर दूर तक इविरोध कर रहे युवक को पकड़ लिया और उसे लात घुन्शो से पिटाई सुरु कर दिया ,हालात बेकाबो देख जिले की और फ़ोर्स पहंच गयी जिसके बाद आधा दर्शन लोगों को हिरसात में लिया गया है । आक्रोश कर्मचारियों ने हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है जिससे स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह से बाधित हो गयी है ।